Home »Economy »Policy» SC Says Trial Has To Be Completed In Two Years In Babri Masjid Case

आडवाणी को SC से झटका, बाबरी मामले में सभी 13 आरोपी बीजेपी नेताओं पर चलेगा मुकदमा

आडवाणी को SC से झटका, बाबरी मामले में सभी 13 आरोपी बीजेपी नेताओं पर चलेगा मुकदमा
नई दिल्‍ली. सुप्रीम कोर्ट ने बाबरी मामले में लाल कृष्‍ण आडवाणी समेत सभी 13 आरोपी बीजेपी नेताओं पर मुकदमा चलाने की इजाजत दे दी है। राज्‍यपाल होने के कारण कल्‍याण सिंह पर फिलहाल मुकदमा नहीं चलेगा। उन्‍हें पद पर बने रहने तक छूट रहेगी। शीर्ष कोर्ट ने बुधवार को इस मामले में सीबीआई की अपील को स्‍वीकार करते हुए मुकदमा चलाने की मंजूरी दी। जिन लोगों पर मुकदमा चलेगा उनमें मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार भी शामिल हैं। कोर्ट ने मामले की रोज सुनवाई करने और इसे 2 साल में पूरा करने को कहा है। 
 
 
- सुप्रीम कोर्ट ने कहा है लखनऊ कोर्ट में अब मामले की सुनवाई होगी। 
- कोर्ट ने यह भी कहा कि राय बरेली कोर्ट से चार हफ्ते के भीतर केस को लखनऊ ट्रांसफर कर दिया जाए। 
- इस मामले में उमा भारती को भी आपराधिक साजिश की धाराओं के तहत मुकदमे का सामना करना पड़ेगा।
 
कोर्ट ने कहा था- टेक्निकल ग्राउंड नहीं मिल सकती राहत
- इससे पूर्व 6 अप्रैल के आदेश को सुरक्षित रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हम इस मामले में इंसाफ करना चाहते हैं।
- केवल टेक्निकल ग्राउंड पर इनको राहत नहीं दे सकती और उनके खिलाफ साजिश का ट्रायल चलना चाहिए। हम डे टू डे सुनवाई कर दो साल में सुनवाई पूरी कर सकते हैं।
- वहीं, आडवाणी की ओर से दोबारा ट्रायल पर आपत्ति जताते हुए कहा गया था कि मामले में 183 गवाहों को फिर से बुलाना होगा, जो काफी मुश्किल है।
सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में इन नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश का ट्रायल चलाए जाने की मांग की थी। साथ ही साजिश की धारा हटाने के इलाहाबाद हाइकोर्ट के फैसले को रद्द किया जाना चाहिए।
 
6 दिसंबर को गिराया गया था विवादित ढांचा
- 6 दिसंबर 1992 को विवादित ढांचा गिराए जाने के दो मामलों पर ट्रायल चल रहा है। ढांचा गिराए जाने के वक्त मौजूद अज्ञात कारसेवकों के खिलाफ केस लखनऊ कोर्ट में और बीजेपी लीडर्स से जुड़ा एक केस रायबरेली कोर्ट में है।
- पिछली सुनवाई में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, "लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत 13 लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश का मामला चलना चाहिए।
- सीबीआई के वकील ने कोर्ट को बताया कि रायबरेली में 57 लोगों की गवाही ली जा चुकी है। वहीं, 100 से ज्यादा लोगों की गवाही ली जानी है। यह भी बताया कि सभी 21 आरोपियों के खिलाफ आरोपों को हटा लिया गया था। इनमें बीजेपी नेता भी शामिल हैं। इसके अलावा, बाबरी मस्जिद को ढहाने के मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की गई थीं। 
 
रायबरेली कोर्ट से आडवाणी को मिली थी राहत
- रायबरेली की कोर्ट ने आडवाणी, जोशी, उमा भारती समेत 13 बीजेपी लीडर्स के खिलाफ आपराधिक साजिश के चार्जेज हटा दिए थे। 2010 में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी इस फैसले को बरकरार रखा था।
- सुप्रीम कोर्ट में हाजी महबूब अहमद और सीबीआई ने कॉन्पिरेसी चार्जेज हटाए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी और इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश को खारिज करने की अपील भी की थी।
- 6 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने साजिश के आरोपों को रद्द करने की अपील को एग्जामिन करने का फैसला किया था।
- इस मामले में 21 लोगों के खिलाफ साजिश के आरोप लगाए गए थे, जिनमें से 8 का निधन हो चुका है। बता दें कि SC में अपील करने वाले हाजी महबूब का भी निधन हो चुका है।   
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY