• Home
  • Economy
  • Policy
  • MON ECN POLI one million people are useless overnight and they are not likely to get a job anywhere else

रातोंरात एक लाख लोग हो गए बेकार, इन्हें कहीं और नौकरी मिलने के भी आसार नहीं

  • जेट एयरवेज के कामकाज के ठप होने से एक लाख लोग बेकार हो गए
  • दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन के लिए जुटे जेट एयरवेज के स्टॉफ
  • उनका कहना था कि सरकार को तत्काल प्रभाव से जेट एयरवेज को बेल आउट पैकेज देना चाहिए ताकि फिर से जेट का संचालन शुरू हो सके और वे अपनी रोजी-रोटी कमा सके।

Money Bhaskar

Apr 18,2019 05:55:00 PM IST

नई दिल्ली। जेट एयरवेज के कामकाज के ठप होने से एक लाख लोग बेकार हो गए। इन लोगों को यह नहीं पता चल रहा है कि उनकी गलती क्या है। यह पूछने पर कि एक लाख लोग कैसे बेकार हो गए, दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन के लिए जुटे जेट एयरवेज के स्टॉफ ने बताया कि 16,000 तो वैसे कर्मचारी है जो जेट एयरलाइंस से सीधे तौर पर जुड़े हुए थे। कम से कम 80 हजार लोग ऐसे थे जो कहीं न कहीं अप्रत्यक्ष रूप से जेट से जुड़कर अपनी रोजी-रोटी कमा रहे थे। गुरुवार की दोपहर दिल्ली के जंतर-मंतर पर सैकड़ों की संख्या में जेट एयरवेज के कर्मचारी जेट के कामकाज के ठप होने के विरोध में जुटे थे।

उनका कहना था कि सरकार को तत्काल प्रभाव से जेट एयरवेज को बेल आउट पैकेज देना चाहिए ताकि फिर से जेट का संचालन शुरू हो सके और वे अपनी रोजी-रोटी कमा सके। जेट एयरलाइंस पिछले तीन महीने से अपने कैप्टन को सैलरी नहीं दे रही थी जबकि अन्य विभाग के लोगों की सैलरी पिछले दो महीने से बंद थी।

केबिन क्रू ने बताया पिछले दो महीनों में लोगों ने अपने पीएफ के पैसे निकाल लिए

जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन के आए केबिन क्रू दिलप्रीत ने बताया कि बदहाली का आलम यह है कि पिछले दो महीनों में लोगों ने अपने भविष्य निधि (पीएफ) के पैसे निकाल लिए। वह कहते है कि जिस पैसे को हमें 60 साल के बाद इस्तेमाल करना था, उसे हम 30 साल की अवस्था में कर लिए। अब हमारी कौन मदद करेगा।

X
COMMENT

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.