विज्ञापन
Home » Economy » PolicyNew MPs have 40 percent more wealth than MPs of 2014

सेवा में मेवा / नए सांसदों के पास वर्ष 2014 के सांसदों के मुकाबले 40 प्रतिशत ज्यादा दौलत

हर सांसद के पास औसत चार करोड़ रुपए की संपत्ति, सबसे अमीर सांसद नकुलनाथ

New MPs have 40 percent more wealth than MPs of 2014

नई दिल्ली. भारत में अब जिसके पास ज्यादा दौलत है तो उसके नेता बनने के चांस भी बढ़ गए हैं। हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में जीते सांसदों की घोषित दौलत का आकलन किया जाए तो यह बात सच लगती है। इस चुनाव में अमीर प्रत्याशी चुनाव जीतने में सफल रहे हैं। जीतने वाले प्रत्याशियों की औसत संपत्ति चार करोड़ के आसपास है। यह वर्ष 2014 में सांसद बने प्रत्याशियों की तुलना में 40% ज्यादा है। वहीं, चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 16 गुना अधिक है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है। 

 

बहुमत भाजपा का लेकिन संपत्ति में कांग्रेस सांसद आगे

 

भाजपा ने सबसे अधिक सीटें जीतीं, लेकिन उसके सांसदों की औसत संपत्ति 3.9 करोड़ रुपए है। जबकि कांग्रेस के सांसदों की औसत संपत्ति 5.1 करोड़ है। सबसे धनी विजेता मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुल नाथ हैं।  मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से वे जीतें हैं। और उन्होंने अपनी संपत्ति 659 करोड़ रुपए घोषित की है। 

यह भी पढ़ें : स्विस और जापानी कंपनियों को मात देने के लिए टाइटन खुद बनाएगी ऑटोमैटिक घडियां

पैसे के साथ अपराध भी बढ़ा 


पैसे के साथ राजनीति में अपराध भी प्रमुखता से बढ़ रहा है। इन चुनाव जीत दर्ज करने वाले प्रत्याशियों में  28 प्रतिशत गंभीर आपराधिक आरोपों का सामना कर रहे हैं। वर्ष 2014 में 21% सांसद गंभीर आपराधिक आरोपों का सामना कर रहे थे। गाैरतलब है कि एडीआर ने 17वीं लोकसभा चुनाव के 8,049 में से 7928 उम्मीदवारों के हलफनामों का विश्लेषण किया है। इनमें 29% की संपत्ति एक करोड़ से ज्यादा है। भाजपा के 79%, कांग्रेस के 71 % उम्मीदवार करोड़पति हैं। बसपा के 17 और सपा के आठ प्रत्याशी करोड़पति हैं। चुनाव बाद जीतने वाले प्रत्याशियों के विश्लेषण में भी यह साफ हुआ कि ज्यादा संपत्ति वाले नेता संसद पहुंचे हैं। 

यह भी पढ़ें : ट्रेड वार का फायदा उठाने के लिए मोदी सरकार विदेशी कंपनियों पर कम कर सकती है टैक्स

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन