विज्ञापन
Home » Economy » PolicyNaMo TV Quietly Goes Off Air As Lok Sabha Elections campaign End

विवाद / लोकसभा चुनाव खत्म होते ही सभी डीटीएच प्लेटफॉर्म से गायब हुआ NaMo Tv

चैनल के प्रसारण को लेकर चुनाव आयोग के पास कई पार्टियों ने की थी शिकायतें

NaMo TV Quietly Goes Off Air As Lok Sabha Elections campaign End
  • चैनल जब से शुरू हुआ तब से विवादों में रहा


 

 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों और अन्य चुनावी संदेशों का प्रचार करने वाला भाजपा प्रायोजित चैनल नमो टीवी बंद हो गया है। एजेंसी के मुताबिक, यह 17 मई को बंद हो गया जब लोकसभा चुनाव के लिए सारा प्रचार अभियान खत्म हो गया। गोपनीयता की शर्त पर भाजपा के नेता ने कहा, ''नमो टीवी लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रचार अभियान के माध्यम के रूप में लाया गया। चुनाव खत्म होने के साथ ही इसकी अब कोई जरुरत नहीं है इसलिए 17 मई से जब सारा प्रचार खत्म हो गया तो इसे भी बंद कर दिया गया।"

चैनल शुरू से रहा विवादों में

चैनल जब से शुरू हुआ तब से विवादों में रहा। दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव प्रचार की अवधि खत्म होने के बाद भी नमो टीवी पर ''चुनाव संबंधित" खबरें प्रसारित करने के लिए भाजपा को नोटिस भेजा था, लेकिन पार्टी ने कहा कि उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया। अप्रैल में निर्वाचन आयोग ने निर्देश दिया था कि नमो टीवी पर दिखाए जाने वाले सभी रिकॉर्डेड कार्यक्रम पूर्व प्रमाणित हों। इसके बाद दिल्ली निर्वाचन आयोग ने भाजपा को उसकी मंजूरी के बिना टीवी पर कोई भी सामग्री प्रसारित ना करने के लिए कहा।

कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने निर्वाचन आयोग से चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए चैनल को रद्द करने के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को निर्देश देने के लिए कहा था जिसके बाद आयोग ने नमो टीवी पर मंत्रालय से रिपोर्ट मांगते हुए एक नोटिस जारी किया था।

आप और कांग्रेस ने नियमों के उल्लंघन का लगाया था आरोप 

गौरतलब है कि नमो टीवी के लाॅन्च पर कांग्रेस और आप ने शिकायत की थी और आरोप लगायाा था कि नमो टीवी जो सभी डी.टी.एच. प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है , उसका आई.बी. मंत्रालय के द्वारा लाइसेंस दिए गए प्राइवेट सेटेलाइट टी.वी. चैनलों की लिस्ट में कहीं भी कोई ज़िक्र नहीं है | कांग्रेस पार्टी ने ये भी आरोप लगाया था कि नमो टीवी केबल टीवी प्रसारण के  नियम 7 (3) का उल्लंघन भी कर  रहा है, जो धार्मिक और राजनैतिक प्रचार पर रोक लगाता है | वहीं आम आदमी पार्टी पार्टी ने इस बात पर भी खेद जताया था कि कैसे आचार संहिता लागू होने के बाद भी किसी राजनैतिक दल को उसके खुद के टीवी चैनल को लांच करने की आज्ञा दी गयी | 

 

23 मई को देखिए सबसे तेज चुनाव नतीजे भास्कर APP पर

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन