Home » Economy » Policyचेकबुक फैसिलिटी - Cheque Book Facility पर नहीं लगेगी रोक - Finance Ministry

चेकबुक फैसिलिटी पर नहीं लगेगी रोक, फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने किया साफ

केंद्र सरकार की चेकबुक फैसिलिटी को खत्‍म करने की कोई योजना नहीं है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार की बैंकों में मिलने वाली चेकबुक फैसिलिटी को खत्‍म करने की कोई योजना नहीं है। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री के ट्वीट में कहा गया है कि मीडिया के एक हिस्‍से में पिछले दिनों खबर आई कि सरकार डिजिटल ट्रांजैक्‍शन को बढ़ावा देने के लिए चेकबुक फैसिलिटी की सुविधा खत्‍म करने जा रही है। यह बात पूरी तरह गलत है।

 

हाल ही में कॉन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स  (CAIT) के सेक्रेटरी जनरल प्रवीन खंडेवाल ने इस बात के संकेत दिए थे कि सरकार जल्‍द ही चेकबुक सुविधा को बंद कर सकती है। उन्‍होंने कहा था कि सरकार यह फैसला डिजिटल ट्रांजैक्‍शन को बढ़ावा देने के लिए ले सकती है।

 

चेक के जरिए ट्रांजैक्‍शन बढ़ा

नोटबंदी के पहले तक  95% से ज्‍यादा ट्रांजैक्‍शन कैश और चेक के जरिए होता था। पिछले साल 8 नवंबर को लागू नोटबंदी के बाद से कैश ट्रांजैक्‍शन में कमी आई है, लेकिन चेक के जरिए ट्रांजेक्‍शन बढ़ा है। सरकार ने इस वित्त वर्ष के अंत तक 2.5 खरब डिजिटल ट्रांजैक्‍शन का टारगेट रखा है।

 

सितंबर में बढ़ा ट्रांजैक्‍शन

सितंबर महीने में डेबिट-क्रेडिट कार्ड से हुए ट्रांजैक्शन में 84 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली। केंद्र सरकार द्वारा डिजिटल तरीके से लेन-देन को बढ़ावा देने से अकेले सितंबर में 74 हजार करोड़ से अधिक का लेन-देन हुआ।

 

पिछले साल सितंबर में हुआ था इतना लेनदेन

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल सितंबर के महीने में केवल 40130 करोड़ का लेनदेन डिजिटल तरीके से हुआ था। इस साल इस तरीके से लेनदेन बढ़ाने में प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन का ज्यादा योगदान रहा। पिछले साल जहां केवल 203 मिलियन ट्रांजेक्शन हुए थे, वहीं इस साल सितंबर महीने में यह आंकड़ा 378 मिलियन के पार चला गया।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट