विज्ञापन
Home » Economy » PolicyMehul Choksi Cites his medical conditions for being unable to come to India

पीएनबी घोटाला / मेहुल चौकसी ने हाई कोर्ट में दी खराब स्वास्थ्य की दुहाई, कहा-नहीं लौट सकता भारत

दिल की बीमारी और दिमाग में blood clot को बताया देश न लौटने की वजह

Mehul Choksi Cites his medical conditions for being unable to come to India
  • मेहुल चौकसी को 15 जनवरी, 2018 में एंटीगुआ और बरबूडा की नागरिकता मिल गई थी।

नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक में हुए 13,500 करोड़ रुपए के फ्राॅड केस के दूसरे प्रमुख आरोपी डायमंड कारोबारी मेहुल चौकसी ने खराब स्वास्थ्य के कारण भारत नहीं आने की की बात कही है। उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर करके कहा कि उनका स्वास्थ्य लंबे समय से खराब है, लिहाजा कोर्ट देश न लौट पाने की उनकी अपील को खारिज न करे। इसके साथ ही उन्होंने क्रॉस-एक्जामिनेशन करने का अधिकार दिए जाने की भी मांग की।

 

पिछले महीने दर्ज की थी याचिका

एजेंसी की खबर के मुताबिक, पिछले महीने मेहुल चौकसी ने Prevention of Money Laundering Act (PMLA) के तहत एक नई याचिका दाखिल की थी। इसमें उन्होंने अपनी पुरानी दिल की बीमारी और दिमाग में बल्ड क्लॉट का जिक्र किया था। बुधवार को उन्होंने कोर्ट से इस याचिका को खारिज न करने की अपील की।

 

यह भी पढ़ें- 1600 शहरों में लॉन्च होगी Jio GigaFiber सेवा, 600 रुपए में मिलेगा ब्रॉडबैंड, लैंडलाइन और टीवी कॉम्बो

 

चोकसी ने ले ली है एंटीगुआ की नागरिकता

पिछले साल जनवरी में देश से फरार हुए मेहुल चौकसी को 15 जनवरी, 2018 में एंटीगुआ और बरबूडा की नागरिकता मिली। पिछले महीने उन्हें भारत लाने की कवायद शुरू होने के बाद चौकसी के वकीलों ने उनकी विस्तृत मेडिकल हिस्ट्री कोर्ट के पास जमा कराई। इसमें बताया गया कि उनकी बीमारियों के चलते उन्हें ट्रैवल करने से मना किया गया है, इसलिए वे भारत नहीं आ सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें- ISIS की कमाई का सीक्रेट, टैक्स लगाकर कमाता है सालाना 5500 करोड़ रुपए

 

जनवरी में सामने आया था 13,000 करोड़ रुपए का घोटाला

13,000 करोड़ रुपए के PNB घोटाले के दोनों मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) और सीबीआई दोनों ने मुकदमे दर्ज कर रखे हैं। 2011 में शुरू हुआ यह घोटाला जनवरी 2018 में सामने आया और उसके बाद PNB के अधिकारियों ने जांच एजेंसियों को सूचित किया। नीरव मोदी और मेहुल चौकसी इस घोटाले के सामने आने से 15 दिन पहले ही भारत से फरार हो गए थे।

 

यह भी पढ़ें- PACL में फंसा पैसा वापस पाने के लिए जल्दी करें आवेदन, 30 अप्रैल है आखिरी तारीख, 6 करोड़ निवेशकों को मिलेंगे 49,000 करोड़ रुपए

 

घोटाले में मेहुल और नीरव हैं मुख्य आरोपी

- हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि ग्रुप्स के मालिक मेहुल चौकसी इस घोटाले के मुख्‍य आरोपी हैं। इन दोनों ने गोकुलनाथ शेट्टी के साथ मिलकर इस घोटाले को अंजाम दिया।

- 280 करोड़ के फ्रॉड केस में ED ने नीरव मोदी की पत्नी आमी, भाई निशाल, मेहुल चीनूभाई चौकसी, डायमंड कंपनी के सभी पार्टनर्स, सोलर एक्सपर्ट्स, स्टेलर डायमंड और बैंक के दो अफसरों गोकुलनाथ शेट्टी (अब रिटायर्ड) और मनोज खरात के खिलाफ केस दर्ज किया है।

 

यह भी पढ़ें- अरबपतियों की फेवरेट रही हैं 7 किताबें, जान लें होगा फायदा

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन