बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyकभी थम्सअप को बंद करना चाहती थी कोका कोला, आज उसी ने बचाई लाज

कभी थम्सअप को बंद करना चाहती थी कोका कोला, आज उसी ने बचाई लाज

थम्सअप ब्रांड को 40 साल हो चुके हैं और इंडियन सॉफ ड्रिंक मार्केट में मार्केट लीडर है। एक समय बंद होने के की कगार पर था।

1 of

नई दिल्ली। थम्सअप ब्रांड को 40 साल पूरे हो चुके हैं और वह इंडियन सॉफ ड्रिंक मार्केट में मार्केट लीडर है। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब थम्सअप ब्रांड बंद होने के की कगार पर था। थम्सअप ब्रांड की शुरूआत एक इंडियन कंपनी ने की थी जिसे अमेरिकी बेवरेज कंपनी कोका कोला ने खरीद लिया। अमेरिकी कंपनी ने इसे बंद करने के कगार पर पहुंचा दिया था लेकिन आज यहीं ब्रांड उनके प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में अहम रोल निभा रहा है। आइए जानते हैं थम्सअप की जर्नी..

 

 

थम्सअप ने पूरे किए  40  साल

 

बीते हफ्ते कोका कोला ने थम्सअप ब्रांड के 40 साल पूरे होने का सेलिब्रेशन किया। थम्सअप की सालाना सेल 5,000 करोड़ रुपए है। कंपनी अगले 2 साल में थम्सअप को 1 बिलियन डॉलर यानी करीब 6,400 करोड़ रुपए का ब्रांड बनाना चाहती है। ये टारगेट काफी बड़ा है क्योंकि अभी थम्सअप का सालाना ग्रोथ करीब 5 से 6 फीसदी रहा है। कोका कोला के प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में थम्सअप सबसे बड़ा कोला ब्रांड है।

 

आगे पढ़ें - कैसे हुई थम्सअप की शुरूआत..

इंडियन कंपनी ने शुरू किया थम्सअप

 

साल 1977 में कोका कोला अपने प्रोडक्ट इंडिया से लेकर चला गया था (तब पेप्सी इंडियन मार्केट में नहीं थी।)। कोका कोला के चले जाने से इंडियन मार्केट में कोई बड़ा सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड नहीं बचा था। तब थम्सअप की शुरूआत इंडियन कंपनी पारले ग्रुप ने की। पारले ग्रुप के चौहान भाईयों रमेश चौहान, प्रकाश चौहान और तब पारले के सीईओ भानू वकील ने थम्सअप को साल 1978 में इंडिया में लॉन्च किया। उस समय मार्केट में पारले के लिए कोई कंपिटिटर नहीं था जिसका फायदा पारले को मिला। हालांकि, तब कैंपा कोला, डबल सेवन और थ्रिल जैसे ब्रांड थे लेकिन वो पारले के लिए बड़ा चैलेंज नहीं थे। तब देश में उनका डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क अच्छा था क्योंकि उनके पास लिम्का और गोल्डस्पॉट था।

 

आगे पढ़ें - पारले ने बेचा थम्सअप 

पारले ने बेचा थम्सअप

 

जब इंडियन इकोनॉमी ओपन इकोनॉमी बनी तो साल 1993 मे कोका कोला ने इंडियन मार्केट में फिर से एंट्री की। उस समय पेप्सी और कोका कोला दोनों इंडियन मार्केट में आए। दो बड़ी मल्टीनेशनल के बीच पारले को सरवाइव करना मुश्किल हो रहा था। हालांकि, तब इंडियन मार्केट में 80 फीसदी शेयर थम्सअप का थी। पेप्सी और कोकाकोला ने प्रमोशन पर हैवी अमाउंट खर्च कर रहे थे। इतना पैसा पारले खर्च नहीं कर पा रहा था। तो पारले ने अपने थम्सअप ब्रांड को कोका कोला को बेच दिया। तब मार्केट में थम्सअप की हिस्सेदारी करीब 85 फीसदी थी।

 

आगे पढ़ें - थम्सअप पहुंचा बंद होने की कगार पर..

थम्सअप पहुंचा बंद होने की कगार पर..

 

पारले ग्रुप के पास थम्सअप, लिम्का, गोल्ड स्पॉट, माजा और सिट्रा जैसे ब्रांड थे जिसे साल 1993 में कोका-कोला ने खरीद लिया। इसमें से पारले ग्रुप के ब्रांड सिट्रा और गोल्ड स्पॉट को अमेरिकी बेवरेज कंपनी कोका कोला ने बंद कर दिया। ब्रांड गुरू हरीश बिजूर ने moneybhaskar.com को बताया कि उस समय में मार्केट लीडर होने के बावजूद थम्सअप की पॉपुलैरिटी कम होने लगी क्योंकि कोका कोला ने पूरा ध्यान अपने फ्लैगशिप ब्रांड कोका कोला को प्रमोट करने में लगा दिया। कोका कोला ने थम्सअप के प्रमोशन पर ज्यादा खर्च किया क्योंकि उसका ध्यान अपने ब्रांड पर था। एक समय के बाद कोका कोला को अहसास होने लगा कि थम्सअप के कस्टमर उनके ब्रांड कोक पर शिफ्ट होने की जगह पेप्सी पर शिफ्ट होने लगे। तब कोका कोला थम्सअप को मार्केट से हटाने के बारे में सोचने लगा था, ताकि वह इसकी जगह कोक को बड़ा बना सके।

 

 

आगे पढ़ें - क्यूं कंपनी ने किया थम्सअप को रिवाइव

किया थम्सअप को रिवाइव

 

उस समय कोका कोला का सॉफ्ट ड्रिंक मार्केट में 60.5 फीसदी हिस्सेदारी थी। जब वह थम्सअप को हटाने के बारे में सोच रहा था, तो कोका कोला को पता लगा की अगर वह थम्सअप को अपने पोर्टफोलियो से हटा देती है तो उसकी हिस्सेदारी सिर्फ 28.72 फीसदी रह जाएगी। (ये एनजीओ फाइनेंस ट्रेड इन इंडिया की रिपोर्ट में बताया गया है।) इसके बाद कोका कोला ने थम्सअप को फिर से री-लॉन्च किया। तब कोका कोला ने 'ग्रो अप टू थम्सअप' नाम से कैंपेन चलाया जो सफल रहा। इससे ब्रांड का मार्केट शेयर बढ़ने लगा। कंपनी ने सलमान खान को थम्सअप का ब्रांड एम्बेसडर बनाया। अब रणवीर सिंह थम्सअप के ब्रांड एम्बेसडर है।

 

अब सबसे बड़ा कोला ब्रांड हैं थम्सअप

 

थम्सअप की सालाना सेल 5,000 करोड़ रुपए है। अभी थम्सअप का सालाना ग्रोथ करीब 5 से 6 फीसदी रहा है। कोका कोला के प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में थम्सअप सबसे बड़ा कोला ब्रांड बना हुआ है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट