बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policy1 दिसंबर से शुरू हो रही है यह सर्विस, घर बैठे आधार से वेरिफाई होगा मोबाइल सिम

1 दिसंबर से शुरू हो रही है यह सर्विस, घर बैठे आधार से वेरिफाई होगा मोबाइल सिम

मोबाइल कंपनियां 1 दिसंबर 2017 से एक नई सर्विस शुरू करने जा रही हैं।

1 of
 
नई दिल्‍ली. मोबाइल कंपनियां 1 दिसंबर 2017 से एक नई सर्विस शुरू करने जा रही हैं। इसके जरिए, कंज्‍यूमर घर बैठे ही अपने मोबाइल सिम को आधार से वेरिफाई कर सकते हैं। यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) के अनुसार, आधार ओटीपी सर्विस के जरिए कंज्‍यूमर अपने सिम को आधार से वेरिफाई कर सकते हैं। सरकार ने आधार-सिम वेरिफिकेशन के लिए 6 फरवरी 2018 तक की समय-सीमा निर्धारित की है।
 

UIDAI  की ओर से हालांकि यह स्‍पष्‍ट किया गया है कि आधार ओटीपी सर्विस केवल उन्‍हीं कन्‍यूमर्स को मिलेगी, जिनका कम से कम एक मोबाइल नंबर आधार के साथ रजिस्‍टर्ड है। दूसरी ओर, यदि आपका मोबाइल नंबर आधार के साथ रजिस्‍टर्ड नहीं है तो आपको अपने नजदीकी बैंक ब्रांच या पोस्‍ट ऑफिस में आधार सेवा केंद्र पर जाना होगा और वहां अपना मोबाइल नंबर जुड़वाना या अपडेट कराना होगा।
 

बेहद आसान होगा वेरिफिकेशन


मोबाइल कंपनियों की ओर से शुरू की जाने वाली आधार ओटीपी सर्विस की ओर से आसानी से मोबाइल सिम आधार वेरिफिकेशन हो जाएगा। इसके लिए कंज्‍यूमर को अपना फिंगरप्रिंट्स देने की भी जरूरत नहीं होगी। दूसरे शहर में रह रहे सब्‍सक्राइबर भी कहीं से भी अपना सिम वेरिफाई करा सकते हैं। इसके अलावा, इस सर्विस के जरिए कंज्‍यूमर अपने दूसरे सिम का भी वेरिफिकेशन करा सकते हैं।
 
आगे पढ़ें... क्‍यों जरूरी है मोबाइल सिम वेरिफिकेशन 
 

 

आधार से मोबाइल वेरिफाई करना जरूरी क्‍यों?


यूआईडीएआई के अनुसार, इस वेरिफिकेशन के जरिए कंज्‍यूमर यह सुनिश्चित करेगा कि उसकी आईडेंटिटी का मिसयूज अपराधी प्रवृति के लोगों द्वारा नहीं हो सकेगा। कंज्‍यूमर के नाम पर सिम लेकर कोई दूसरा नहीं चला सकेगा। सरकार की तरफ से आधार-सिम वेरिफिकेशन अनिवार्य करने के बाद टेलिकॉम कंपनियां अपने कस्‍टमर्स को अलर्ट भेजकर मोबाइल कनेक्‍शन को आधार से वेरिफाई कराने के लिए कह रही थीं। टेलिकॉम कंपनियों ने सरकार के निर्देशों का हवाला देते हुए कस्‍टमर्स से 6 फरवरी 2018 तक अनिवार्य रूप से मोबाइल नंबर के साथ आधार वेरिफाई करने को कहा है।

 

आगे पढ़ें... अभी क्‍या है ऑप्‍शन


 

अभी क्‍या है सिम-आधार वेरिफिकेशन का तरीका


मोबाइल नंबर कनेक्‍शन के दौरान यदि आपने आधार पर आधारित ई-केवाईसी का ऑप्‍शन लिया है तो आपको दोबारा आधार-सिम लिंकिंग की जरूरत नहीं होगी। जबकि, दूसरे कस्‍टमर्स को कंपनी के नजदीकी आउटलेट पर जाकर बॉयोमीट्रिक ई-केवाईसी प्रॉसेस कुछ आसान स्‍टेप्‍स में पूरा करना होगा। नो योर कस्‍टमर्स नॉर्म्‍स के तहत ई-केवाईसी डिटेल उपलब्‍ध कराने का एक ऑनलाइन तरीका है।

मोबाइल नंबर को आधार डाटा से वेरिफाई करने के लिए आपको टेलिकॉम कंपनियों के सेंटर जाना होगा। वहां आपको अपना आधार नंबर या आधार कार्ड की कॉपी देनी होगी। उसके बाद आधार से पहले से लिंक मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को डालने के बाद आपका नंबर वेरिफाई हो जाएगा।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट