डील /6000 करोड़ रुपए की मिसाइल बनेगी दिल्ली का कवच, अमेरिका से NASAMS-II खरीद सकता है भारत

  • भारत को THAAD ऑफर कर रहा है अमेरिका।

Moneybhaskar.com

Jun 10,2019 06:13:00 PM IST

नई दिल्ली.

भारत ने अमेरिका से National Advanced Surface to Air Missile System-II (NASAMS-II) लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। भारत ड्रोन और बैलिस्टिक मिसाइल्स के हमलों से अपने एयरस्पेस की सुरक्षा करने के लिए यह मिसाइल सिस्टम खरीद रहा है। अमेरिका अपने फॉरेन मिलिट्री सेल्स प्रोग्राम के तहत जुलाई-अगस्त तक भारत को 'लेटर ऑफ एक्सेपटेंस’ भेज सकता है। इस डील की कीमत 6000 करोड़ रुपए है।

दिल्ली के ऊपर मल्टी लेयर्ड शील्ड लगाने की तैयारी में सरकार

बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के मुताबिक इस डील के फाइनल होते ही इस एयर मिसाइल की डिलीवरी दो से चार साल में हो जाएगी। NASAMS-II को स्वदेशी, रूसी और इजरायली सिस्टम के साथ इस्तेमाल करेगा, जिससे देश की राजधानी दिल्ली के ऊपर मल्टी-लेयर्ड शील्ड तैयार किया जा सके। दिल्ली लिए प्रस्तावित एयर डिफेंस प्लान के तहत इस सुरक्षा कवच की अंदरूनी परत NASAMS होगा। 2018 में तत्कालीन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने Defence acquisitions council (DAC) की बैठक की अगुवाई की थी, जिसमें NASAMS-II के अधिग्रहण के लिए ‘acceptance of necessity (AoN)’ को स्वीकार किया था।

क्या है NASAMS-II

NASAMS-II कोंग्सबर्ग डिफेंस एंड एयरोस्पेस/रेथिऑन नेशनल एडवांस्ड सर्फेस-टू-एयर मिसाइल का अपग्रेडेड वर्जन है। इसमें नया 3D मोबाइल सर्विलांस रडार और 12 मिसाइल लॉन्चर्स भी शामिल हैं। यह नया एयर डिफेंस सिस्टम लंबे समय से रुके पड़े द्वि-स्तरीय बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस (BMD) सिस्टम की जगह लेगा। BMD सिस्टम को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) तैयार कर रहा है और यह एडवांस्ड स्टेज में है। NASAMS की बैटरी में 12 मल्टीमिसाइल लॉन्चर्स दिए गए हैं, इसमें से हर एक मिसाइल छह AIM 120 सीरीज की एडवांस्ड मीडियम-रेंज एयर-टू-एयर (AMRAAMs) यह अन्य सर्फेस-टू-एयर मिसाइल, यह आठ AN/MPQ-64 Sentinel X-band 3D रडार, चार फायर डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर्स और MPS 500 electrooptical/infrared (EO/IR) सेंसर सिस्टम व्हीकल्स ले जाने में सक्षम है।

भारत को THAAD ऑफर कर रहा है अमेरिका

अमेरिका भारत को रूसी S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम का विकल्प ऑफर कर रहा है। भारत ने रूस के साथ 5.4 अरब डॉलर में S-400 ट्रायंफ मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदने की डील साइन की है। इससे अमेरिका भारत से नाराज है और उसने मई में ही इस मिसाइल सिस्टम के विकल्प के तौर पर भारत को Terminal High Altitude Area Defense (THAAD) और Patriot Advance Capability (PAC-3) मिसाइल डिफेंस सिस्टम बेचने की पेशकश की थी। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो THAAD की यह यूनिट की कीमत तीन अरब डॉलर है।

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.