विज्ञापन
Home » Economy » PolicyFugitive Nirav Modi's Rolls Royce and other cars earn Rs 3.29 cr

कार्रवाई / भगोड़े नीरव मोदी की रोल्स रॉयस और दूसरी कारों से सरकार को हुई 3.29 करोड़ रुपए की कमाई

ईडी ने मोदी की महंगी कारों के काफिले को नीलाम किया

Fugitive Nirav Modi's Rolls Royce and other cars earn Rs 3.29 cr
  • 13 में से 12 गाड़ियां बिकीं, टोयटा के लिए नहीं मिला खरीददार

नई दिल्ली. भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी की 13 कारों के काफिले की नीलामी पूरी हो गई है।   इन गाड़ियों को बेचने से 3.29 करोड़ रुपये मिले। यह नीलामी एमएसटीसी ने एन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट (ईडी) की तरफ से सरकारी कंपनी एमएसटीसी ने की। ईडी ने मोदी की 11 और चोकसी की दो कारें दोनों के देश से भागने के बाद जब्त की थीं। इनमें से एक रोल्स रॉयस और एक पोर्श सहित 12 कारें बिक गईं, लेकिन नीरव मोदी की एक टोयोटा कार का खरीदार नहीं मिला। 
मोदी और चोकसी 13,570 करोड़ के पीएनबी स्कैम में आरोपी हैं। 

 

सबसे कम कीमत वाली ब्रियो को भी मिला खरीदार

 

एमएसटीसी की वेबसाइट पर दी गई शर्तों के मुताबिक, किसी शख्स को इनमें से किसी कार की बोली लगाने के लिए लिस्टेड स्टार्टिंग प्राइस के 5 पर्सेंट के बराबर रकम एक एस्क्रो अकाउंट में जमा करानी थी। जिन कारों की नीलामी की गई, उनकी साझा शुरुआती कीमत 3 करोड़ रुपये से कुछ अधिक थी। इनमें से रोल्स रॉयस गोस्ट की शुरुआती कीमत 1.33 करोड़ और सबसे कम होंडा ब्रियो की 2.38 लाख रुपये थी।

यह भी पढ़ें : इसरो के पूर्व वैज्ञानिकों वाली पहली भारतीय कंपनी स्पेस में दिखाएगी कारनामा, रॉकेट लांच करेगी

लगेंगे दो से तीन हफ्ते 

 

 ईडी की असिस्टेंट डायरेक्टर अर्चना सलाये ने बताया कि कारों की सबसे ऊंची बोली का ड्यू डिलिजेंस पूरा करने के बाद इस बारे में एक आधिकारिक बयान जारी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसमें दो-तीन दिन का समय लग सकता है। उन्होंने बताया कि बोली स्वीकार किए जाने की सूचना ईडी एक्सेप्टेंस लेटर के जरिये देगा। अर्चना के मुताबिक, ये लेटर अगले हफ्ते जारी किए जाएंगे। किसी कार के लिए सबसे ऊंची बोली लगाने वाले से मिला बयाना एक सेफ्टी डिपॉजिट में जमा कराया जाएगा। उसे बाकी की रकम चुकाने के लिए एक्सेप्टेंस लेटर जारी करने के बाद 15 दिन दिए जाएंगे। अगर इस बीच वह पैसा नहीं जमा करता है तो बयाने की रकम जब्त कर ली जाएगी। 

यह भी पढ़ें : भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस की साल भर की कमाई के बराबर फेसबुक को देना पड़ सकता है जुर्माना


54 करोड़ रुपए पेंटिंग्स से मिले 


इससे पहले मोदी की जब्त पेंटिंग्स को बेचा गया था, जिससे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को 54 करोड़ रुपये मिले थे। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के एक सूत्र ने बताया कि शर्त के मुताबिक बोली जीतने वालों ने नीलामी के चार दिनों के अंदर 10 पर्सेंट रकम जमा करा दी थी। इसके बाद बाकी की रकम चुकाने के लिए उन्हें 26 अप्रैल तक का समय दिया गया था। इससे पहले 29 मार्च को मोदी को दूसरी बार ब्रिटिश कोर्ट ने जमानत देने से इनकार कर दिया। वह कम-से-कम 6 हफ्ते तक जेल में रहेंगे और 26 अप्रैल को अदालत के सामने विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उनकी पेशी कराई जाएगी। 

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार से आप भी सिर्फ 59 मिनट ले सकेंगे पांच करोड़ रुपए का लोन!

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss