विज्ञापन
Home » Economy » PolicyDelhi traders demand to the New government

राय / नई सरकार को लेकर दिल्ली के व्यापारियों में बढ़ी उम्मीदें, लोन सस्ते करने से लेकर पेंशन योजना लागू करने की है मांग

पीएम मोदी 30 मई को ले सकते हैं शपथ

Delhi traders demand to the New government
  • उम्मीद है कि भविष्य में मोदी सरकार व्यापारियाें के हित में काम करेगी।

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के 452 सीटों पर नतीजे घोषित हो चुके हैं। जहां एनडीए 352 सीट जीत कर बहुमत हासिल कर लिया है। अब देश में भाजपा एक बार फिर सरकार बनाने जा रही है। ऐसे में सरकार से आम जनता की उम्मीदें और बढ़ गई है। इस पर हमने राजधानी दिल्ली के व्यापारियों से बातचीत कर जानना चाहा कि नई सरकार से उनकी क्या उम्मीदें कर रहे हैं। आइए जानते हैं क्या कहा दिल्ली के व्यापारियों ने :

पेंशन योजना लागू हो

खान मार्केट के प्रेसिडेंट संजीव मेहरा ने मनी भास्कर से बातचीत में बताते हैं ‘मोदी सरकार का हम तहे दिल से स्वागत करते हैं। देशभर के व्यापारियों ने मोदी का साथ दिया है। हमें उम्मीद है कि भविष्य में मोदी सरकार व्यापारियाें के हित में काम करेगी। जब जीएसटी लागू किया गया था तब हमें काफी दिक्कताें का सामना करना पड़ा था लेकिन मोदी जी से काफी सपोर्ट मिला था। अब मोदी एक बार फिर मोदी सरकार के बन जाने से उनके सहयोग से व्यापार सरल हो जाएगा।’ उन्होंने कहा ‘जल्द ही व्यापारियों के लिए पेंशन योजना लागू तथा लोन सस्ता होने की उम्मीद है।

20 फीसदी कम हो टैक्स पेयर

द बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के सदस्य योगेश कुमार चैनी (Y.K.) ने बताया ‘हम सभी व्यापारी मोदी सरकार के दोबारा सत्ता में आने पर खुश है। उम्मीद है कि उन्हाेंने पिछले पांच सालों में जिस तरह प्रभावशाली काम किया है आगे भी करेंगे।’ उन्होंने कहा ‘हम चाहते हैं कि टैक्स दर 20 फीसदी तक कम हो, वहीं बैंक ट्रांसजेक्शन टैक्स भी कम होना चाहिए। इसके अलावा गोल्ड का कस्टम कम हो। ’

 

चुनावी घोषणा पत्र के वादें पूरे हो

भागरीथ मार्केट के प्रधान भरत आहूजा ने मनी भास्कर से बातचीत में बताया ‘भाजपा सरकार एक बार फिर बनने से हमारी उम्मीदें बढ़ गई है। हम चाहते हैं मेनिफेस्टो में किए गए वादें को सरकार पूरा करें।’ बता दें कि बीजेपी के संकल्प पत्र में युवाओं, टैक्स पेयर्स, व्यापारियों के लिए कई तरह के वादे किए गए थे। मेनिफेस्टो में बीजेपी ने साल 2025 तक भारत को 5 लाख करोड़ डॉलर की और सन 2032 तक 10 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का संकल्प लिया था। 

 

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन