• Home
  • Centre pays around Rs 10 K cr towards 1st and 2nd tranche in PM Kisan scheme

PM Kisan scheme /अप्रैल में 2 करोड़ खातों में आई दूसरी किस्त, ट्रांसफर हुए 2-2 हजार रु

  • इससे सरकारी खजाने पर 10,500 करोड़ रुपए का बोझ पड़ा है
  • उत्तर प्रदेश के 1 करोड़ किसानों को मिलेगा फायदा

moneybhaskar

Apr 23,2019 07:20:26 PM IST


नई दिल्ली. पीएम किसान योजना (PM-Kisan scheme) के अंतर्गत लगभगद 3.10 करोड़ छोटे किसानों को अभी तक 2,000 रुपए की पहली किस्त और 2.10 करोड़ किसानों को दूसरी किस्त मिल चुकी है। कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि इससे सरकारी खजाने पर 10,500 करोड़ रुपए का बोझ पड़ा है।

12 करोड़ किसानों को मिलना है पैसा

लोकसभा चुनावों (Lok Sabha polls) से पहले केंद्र सरकार ने 75 हजार करोड़ रुपए की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi) या पीएम किसान योजना का ऐलान किया था। इसके तहत देश के 12 करोड़ गरीब किसानों को तीन समान किस्तों में प्रति वर्ष 6,000 रुपए दिए जाने हैं।

यह भी पढ़ें-मोदी सरकार का चीन सहित 4 देशों को बड़ा झटका, 5 साल तक चुकाएंगे कीमत

चुनाव आयोग ने दी है यह छूट

हालांकि, भारतीय निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने केंद्रीय कृषि मंत्रालय (Agriculture Ministry) को आचार संहिता लागू होने से पहले योजना के तहत रजिस्टर्ड सभी लाभार्थियों को पहली और दूसरी किस्त के ट्रांसफर की अनुमति दे दी थी। गौरतलब है कि आचार संहिता 10 मार्च को लागू हुई थी।

यह भी पढ़ें-भारत के लिए खतरा बनने जा रहा था चीन, लेकिन मालदीव ने पलट दिया पूरा खेल

null10 मार्च से पहले 4.76 करोड़ किसानों ने कराया था रजिस्ट्रेशन मिनिस्ट्री के अधिकारी ने बताया, ‘10 मार्च से पहले लगभग 4.76 करोड़ किसानों ने पीएम-किसान योजना (PM-Kisan scheme) के तहत रजिस्ट्रेशन कराया था। हमने 3.10 करोड़ किसानों को पहली किस्त और 2.10 करोड़ किसानों को दूसरी किस्त ट्रांसफर कर दी है।’; उन्होंने कहा कि पहली और दूसरी किस्त के भुगतान से सरकारी खजाने पर 10,500 करोड़ रुपए का बोझ पड़ा है। बजट में सरकार ने किया था यह ऐलान बजट में एनडीए सरकार ने चालू वित्त वर्ष में मार्च के अंत तक किसानों को पहली किस्त के 2,000 रुपए ट्रांसफर करने के लिए 20,000 करोड़ रुपए की धनराशि आवंटित की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में 24 फरवरी को औपचारिक तौर पर लॉन्च किया था, जिसके तहत 1.01 करोड़ किसानों को पहली किस्त ट्रांसफर की थी। इससे सरकारी खजाने पर 2,021 करोड़ रुपए का बोझ पड़ा था।यूपी के किसानों को सबसे ज्यादा फायदा उत्तर प्रदेश में अभी तक लगभग 1 करोड़ किसानों को पहली किस्त, जबकि आंध्र प्रदेश के 30 लाख किसानों को पहली किस्त जारी कर दी गई है। अधिकारी ने कहा कि पंजाब और हरियाणा भी सबसे ज्यादा फायदा पाने वाले राज्यों में हैं, जिन्होंने योजना के तहत अपने किसानों का रजिस्ट्रेशन पूरा कर लिया है। इस योजना के तहत 2 हेक्टेयर से कम जुताई भूमि वाले छोटे और सीमांत किसान पात्र हैं।
X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.