विज्ञापन
Home » Economy » PolicyAnother country admits Modi's government, Haj kotas increase 46% in five years

मुकद्दस सफर / मोदी सरकार का दम एक और देश ने माना, पांच साल में हज कोटा 46 प्रतिशत बढ़ा

सऊदी अरब ने हज कोटा बढ़ाकर दो लाख किया

Another country admits Modi's government, Haj kotas increase 46% in five years
  • पहली बार रिकॉर्ड दो लाख मुसलमान बिना सब्सिडी के हज यात्रा पर जाएंगे। इनमें 2340 मुस्लिम महिलाएं शामिल हैं।
  •  वर्ष 2014 में हज कोटा 1.36 लाख था। वर्ष 2017 में 1.70 लाख हुआ और वर्ष 2018 में  इस बढ़ाकर 1.75 लाख कर दिया गया। 

नई दिल्ली. मुस्लिम देश सऊदी अरब ने भारत सरकार के अनुरोध पर इस साल मक्का-मदीना के लिए हज के मुकद्दस सफर के लिए भारतीयों का कोटा दो लाख कर दिया है। बीते पांच साल में सऊदी अरब ने कोटे में 46 फीसदी का इजाफा किया है। यह भी तब जबकि भारत सरकार ने हज सब्सिडी खत्म कर दी है। मोदी सरकार के वर्ष 2014 में हज कोटा 1.36 लाख था। वर्ष 2017 में 1.70 लाख हुआ और वर्ष 2018 में  इस बढ़ाकर 1.75 लाख कर दिया गया। इसी साल 13 फीसदी का इजाफा हुआ है। 

बिना सब्सिडी करेंगे यात्रा 

सऊदी अरब सरकार ने भारत का हज कोटा बढ़ाकर दो लाख जायरीन कर दिया है। इस वजह से पहली बार रिकॉर्ड दो लाख मुसलमान बिना सब्सिडी के हज यात्रा पर जाएंगे। इनमें 2340 मुस्लिम महिलाएं शामिल हैं। गौरतलब है कि फरवरी 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एवं अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की एक बैठक में सऊदी अरब ने भारत के हज कोटे में लगभग 25 हजार की बढ़ोतरी की थी जिससे भारत का हज कोटा दो लाख हो गया।

यह भी पढ़ें :भारत ने पाक को बेनकाब करने के लिए दुनिया को बताई एलओसी बंद करने की वजह, पहले दिन 35 ट्रक माल वापस किया

कोर्ट के निर्देश के बाद घटती गई थी सब्सिडी 

साल 2012 में आए उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद के वर्षों में हज सब्सिडी की राशि में लगातार कमी की गई। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ओर से आठ फरवरी, 2017 को जारी बयान के अनुसार सरकार ने 2013 में 680.03 करोड़ रुपये, 2014 में 577.07 करोड़ रुपये, 2015 में 529.51 और 2016 में करीब 405 करोड़ रुपये सब्सिडी के तौर पर दी। इसके बाद मोदी सरकार ने सब्सिडी को खत्म करते हुए सस्ती यात्रा आदि का विकल्प दिया। तब देश में खूब विवाद हुए थे।  

यह भी पढ़ें : स्विस घड़ियों को पछाड़कर दुनिया में तेजी से आगे बढ़ी सरकारी हिस्सेदारी वाली यह कंपनी

पाकिस्तान में भी हज सब्सिडी खत्म 

पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान सरकार ने भी इस साल से हज सब्सिडी खत्म कर दी है। इससे बदहाल हो चुके पाकिस्तान के हज सब्सिडी (Haj Subsidy) 450 करोड़ रुपये की बचेंगे।  पाकिस्तान के धार्मिक एवं आपसी सौहार्द मामलों के मंत्री नूरुल हक कादरी ने यह जानकारी दी है। हज सब्सिडी (Haj Subsidy) खत्म करने का फैसला हाल में इस्लामाबाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की अध्यक्षता वाली संघीय मंत्रिमंडल की बैठक में किया गया, जिससे इस बात पर बहस छिड़ गयी है कि क्या इस्लाम सब्सिडी युक्त हज की इजाजत देता है। गौरतलब है कि इस साल 1,84,000 पाकिस्तानी नागरिक हज (Haj) यात्रा करेंगे, इनमें से 107,000 लोग सरकारी कोटे से जबकि शेष निजी कोटे से हज यात्रा पर जाएंगे।

यह भी पढ़ें : सिर्फ कमाते ही नहीं हैं मुकेश अंबानी बल्कि दान में भी रहते हैं अव्वल

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन