• Home
  • After losing the election, Modi's trust in Puri, then made minister

मोदी सरकार 2.0 /चुनाव हारने के बाद भी पुरी पर मोदी का भरोसा, फिर बनाया मंत्री

money bhaskar

May 30,2019 08:46:28 PM IST

नई दिल्ली. पिछली सरकार में आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय संभाल रहे पूर्व राजनयिक हरदीप सिंह पुरी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर से भरोसा जताते हुए उन्हें नये मंत्रिमंडल में जगह दी है। प्रशासनिक क्षमता के कारण देशभर में प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी और मेट्रो रेल परियोजना को सफल बनाने वाले श्री पुरी मूल रुप से दिल्ली के रहने वाले हैं और राज्यसभा सदस्य हैं। हालांकि उन्होंने अमृतसर लोकसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था और उनको पराजय का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें : भारत-अमेरिका के बीच परमाणु समझौते में अहम भूमिका निभाने वाले नौकरशाह रहे जयशंकर बने मंत्री

नौकरशाह रहे हैं पुरी

पुरी 1974 के बैच के भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी रहे हैं। वह संयुक्त राष्ट्र में 2009-2013 की अवधि में भारत के स्थायी प्रतिनिधि रहे हैं। वह विदेश मंत्रालय में 1994-1997 और 1999-2002 तक संयुक्त सचिव रहे हैं। वह रक्षा मंत्रालय में संयुक्त सचिव तथा वर्ष 2009-2013 तक विदेश मंत्रालय (आर्थिक संबंध)में सचिव रहे हैं। पुरी का जन्म 15 फरवरी 1952 को हुआ और उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के हिन्दू महाविद्यालय से स्नातक एवं इतिहास में स्नातकोत्तर किया है। वह कुछ समय तक सेंट स्टीफंस महाविद्यालय में व्याख्याता रहे हैं। श्री पुरी के परिवार में पत्नी लक्ष्मी पुरी तथा दो बेटियां हैं। श्रीमती पुरी संयुक्त राष्ट्र में सहायक महासचिव हैं। पुरी ने कई पुस्तकें लिखी हैं और उन्होंने कई शोध पत्र लिखे हैं तथा पत्र पत्रिकाओं में लेख लिखे हैं।

यह भी पढ़ें : गिरिराज को बिहार में वामपंथ को हराने का मिला ईनाम, लगातार दूसरी बार बने मंत्री

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.