Home » Economy » PolicyIndia jumps 23 notches to 77th rank on World Bank's ease of doing biz ranking

ईज ऑफ डूइंग में भारत ने लगाई 23 पायदान की छलांग, 77वीं रैंक पर पहुंचा

ease of doing business: 190 देशों में भारत ने हासिल की 77वीं रैंक

India jumps 23 notches to 77th rank on World Bank's ease of doing biz ranking

नई दिल्ली. वर्ल्ड बैंक ने बुधवार को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (ease of doing business) की रैंकिंग की घोषणा कर दी। इसमें भारत की रैंकिंग में बड़ा सुधार हुआ है। वर्ल्ड बैंक ने 190 देशों की इस रैंकिंग में भारत को 77वें स्थान पर रखा है। पिछले साल भारत की रैंकिंग 100 थी। भारत ने इस साल 23 रैंक का सुधार किया है।  

 

2016 में थी 130वीं रैंक 
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में भारत का स्थान साल 2016 में 130 था। इसके बाद से मोदी सरकार ने इस रैंक को सुधारने के लिए कई आमूलचूल कदम उठाए थे, जिसका असर अब दिखने लगा है। जबकि मोदी सरकार आने से पहले यह रैंकिंग 142 थी। 

 

सेक्टर्स में हुआ सुधार 
10 में से 6 सेक्टर्स में भारत ने काफी सुधार किया है। कंस्ट्रक्शन परमिट के मामले में भारत 181वें स्थान पर था, जिसमें भी भी काफी सुधार हुआ है। इसके अलावा रियल एस्टेट और पावर सेक्टर में भी सुधार हुआ है। 

 

 

2014 के मुकाबले कैसे हुआ सुधार 
कॉमर्स मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने अपने ट्वीट में पूरा ब्यौरा देते हुए कहा है... 
- साल 2014 में कंस्ट्रक्शन परमिट के मामले में भारत की रैंकिंग में 184 थी, जो अब 52वें स्थान पर पहुंच गई है। 
- बिजली कनेक्शन लेने के मामले में साल 2014 में भारत की रैंकिंग 137 थी, जो अब 24 वें स्थान पर पहुंच गई है। 
- ट्रेडिंग एक्रॉस बॉर्डर के मामले में भारत की रैंकिंग 2014 में 126 थी, जो अब 80 पहुंच गई है। 
- टैक्स भुगतान के मामले में भारत की रैंकिंग 156 थी, जो अब 121वीं हो गई है। 
- इन्सॉल्वेंसी रेजॉल्विंग के मामले में भारत की रैंकिंग 137 के मुकाबले 108 हो गई है। 
- कॉन्ट्रैक्ट इंफोर्सिंग के मामले में भारत की रैंकिंग 186 के मुकाबले 163वें स्थान पर पहुंच गई है। 
- बिजनेस शुरू करने के मामले में 2014 में भारत का स्थान 158वां था, जिसमें 21 रैंक का सुधार हुआ है और अब भारत की रैंकिंग 137 पर पहुंच गई है। 
- क्रेडिट लेने के मामले में भारत का स्थान पहले 36वें नंबर पर था, जो अब 22 वें नंबर पर है। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट