बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policy26 जनवरी पर पहली बार 10 आसि‍यान देशों के नेता होंगे मुख्य अतिथि

26 जनवरी पर पहली बार 10 आसि‍यान देशों के नेता होंगे मुख्य अतिथि

'मन की बात’ का इस वर्ष का यह आख़िरी कार्यक्रम है और संयोग देखिए कि आज, वर्ष 2017 का भी आख़िरी दिन है।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. 'मन की बात’ का इस वर्ष का यह आख़िरी कार्यक्रम है और संयोग देखिए कि आज, वर्ष 2017 का भी आख़िरी दिन है। इस पूरे वर्ष बहुत सारी बातें हमने और आपने साझा कीं। विचारों का ये आदान-प्रदान, मेरे लिए हमेशा नई ऊर्जा लेकर आता है। पीएम मोदी ने सभी को नए साल की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि नए साल में नई बात करेंगे। हमारे देश में निष्काम कर्म की बात होती है। सेवा परमो धर्म ही हमारी परंपरा रही है। वहीं, क्रिसमस भी हमें सेवा का संदेश देता है। 
 
गुरु गोविंद सिंह ने भी महान शिक्षाएं दी हैं। उन्होंने लोगों को जाति और धर्म के बंधन को तोड़ने की शिक्षा दी। जीवन के हर में पल में त्याग और कर्म का संदेश दिया है। मेरे लिए सौभाग्य की बात रही है मैंने पटना साहिब में उनके 350 वें प्रकाश वर्ष में हिस्सा लिया है। 
 
युवा मंथन करें कि कैसे बनेगा न्यू इंडिया 
 
पीएम मोदी ने कहा कि‍ आज इस मन की बात के कार्यक्रम में मैं देश के युवाओं से बात करना चाहता हूं। युवा आगे आएं और मंथन करें कि कैसे बनेगा न्यू इंडिया। उन्‍होंने कहा कि‍ समय की मांग है कि हम 21वीं सदी के भारत के विकास और प्रगति के लि‍ए जनआंदोलन का आयोजन करें। उन्‍होंने कहा कि‍ मेरा विश्वास है कि हमारे ऊर्जावान युवाओं के कौशल और ताकत से ही ‘New India’ का सपना सच होगा। 
 
40 कराेड़ लोगों के बीच होगा स्‍वच्‍छता सर्वे 
 
मन की बात में पीएम मोदी ने की केरल के सबरीमाला मंदिर की चर्चा करते हुए कहा कि‍ पूज्य बापू के अधूरे काम गंदगी से मुक्त भारत को हमें पूरा करना है। शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता के स्तर की उपलब्धियों का आकलन करने के लिए आगामी 4 जनवरी से 10 मार्च 2018 के बीच 4 हजारों शहरों में करीब 40 करोड़ लोगों के बीच दुनिया का सबसे बड़ा सर्वे ‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2018’ किया जाएगा। स्वच्छता केवल सरकार करेगी तो देश साफ नहीं होगा। इसकी जि‍म्‍मेदारी हर नागरिकों की उठानी होगी। 
 
अकेली हज यात्रा पर जा सकती हैं महि‍लाएं 
 
हाल में ही मुझे पता चला कि यदि कोई मुस्लिम महिला हज यात्रा पर जाना चाहती है तो वह किसी पुरुष सदस्य के बिना नहीं जा सकती। मैं इस पर हैरान था कि यह कैसा भेदभाव है। लेकिन अब वह महि‍ला अकेली हज यात्रा पर जा सकती हैं। नि‍यमों में बदलाव कि‍या गया है।  
 
इस बार का गणतंत्र दि‍वस होगा खास 
 
इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा कि‍ यह 26 जनवरी बहुत खास है। क्‍योंकि‍ इस बार गणतंत्र दि‍वस के मौके पर 10 ASEAN देशों के नेता मुख्य अतिथि के रूप में आएंगे। ऐसा भारत के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ है। 
 
 
 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट