विज्ञापन
Home » Economy » PolicyPM Modi's speech on Pravasi Bhartiya Divas Convention 2019

साढ़े चार साल में मोदी सरकार ने 5 लाख 80 हजार रुपए लोगों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किए

सरकारी लाभ ले रहे 7 करोड़ फर्जी लोगों को सिस्टम से हटाया

1 of

नई दिल्ली. 

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में आयोजित Pravasi Bharatiya Divas Convention - 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के अंशः

 

साथियों, अब मैं आपको आज की सच्‍चाई भी बताना चाहता हूं। हमने टेक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल करके इस 85 प्रतिशत की लूट को शत-प्रतिशत खत्‍म कर दिया है। बीते साढ़े चार वर्षों में करीब-करीब 5 लाख 80 हजार करोड़ रुपये... यानि करीब-करीब 80 billion डॉलर हमारी सरकार ने अलग-अलग योजनाओं के तहत सीधे लोगों को दिए, उनके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किए हैं। किसी को घर के लिए, किसी को पढ़ाई के लिए, किसी को scholarship के लिए, किसी को गैस सिलेंडर के लिए, किसी को अनाज के लिए ये राशि दी गई है। अब आप अंदाज लगाइए अगर देश अपने पुराने तौर-तरीकों से ही चलता रहता होता तो आज भी इस 5 लाख 80 हजार करोड़ रुपये में से करीब-करीब साढ़े चार लाख से भी ज्‍यादा हजार करोड़... साढ़े चार लाख हजार करोड़ से ज्‍यादा... ये रकम छूमंतर हो जाती, लीक होती, अगर हम व्‍यवस्‍था में बदलाव नहीं लाते होते तो ये राशि उसी तरह लूट ली जाती जैसे पूर्व प्रधानमंत्री ने स्‍वीकार किया था कि लूटी जाती थी।

 

व्यवस्था से हटाए गए 7 करोड़ फर्जी लोग

साथियों, ये सुधार पहले भी हो सकता था लेकिन नीयत नहीं थी, इच्‍छाशक्ति नहीं थी और नीति की अपेक्षा करना जरा कठिन लगता है। हमारी सरकार अब उस रास्‍ते पर चल रही है कि सरकार द्वारा दी जाने वाली हर मदद Direct benefit transfer scheme के तहत सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में transfer की जाए। मैं आपको एक और आंकड़ा देता हूं। पिछले साढ़े चार साल में हमारी सरकार ने करीब-करीब 7 करोड़ ऐसे फर्जी लोगों को पहचान कर उन्‍हें व्‍यवस्‍था से हटाया है। ये 7 करोड़ लोग वो थे जो कभी जन्‍मे ही नहीं थे जो वास्‍तव में थे ही नहीं लेकिन ये 7 करोड़ लोग सरकारी सुविधाओं को लाभ ले रहे थे। कागज पर वो थे, कागज पर पैदा भी हुए,बड़े भी हुए और फायदा भी उठाते रहे। आप सोचिए पूरे ब्रिटेन में जितने लोग हैं, पूरे फ्रांस में जितने लोग हैं, पूरे इटली में जितने लोग हैं ऐसे अनेक देशों की जनसंख्‍या से ज्‍यादा तो हमारे यहां वो लोग थे जो सिर्फ कागजों में ही जी रहे थे और कागजों में ही सरकारी सुविधाओं का लाभ चला जाता था। इन 7 करोड़ फर्जी लोगों को हटाने का काम हमारी सरकार ने किया है। ये उस बदलाव की एक झलक है जो पिछले साढ़े चार वर्षों में देश में आना शुरू हुआ है।

 

साथियों, ये देश में हो रहे बड़े पैमाने पर हो रहे परिवर्तन की न्‍यू इंडिया के नए आत्‍मविश्‍वास की एक झांकी भर है। भारत के गौरवशाली अतीत को फिर स्‍थापित करने के लिए 130 करोड़ भारतवासियों के संकल्‍प का ये परिणाम है। और मैं आज बहुत गर्व से कहना चाहता हूं इस संकल्‍प में आप भी शामिल हैं।


 

जारी होंगे चिप आधारित ई-पासपोर्ट

साथियों, सरकार का पूरा प्रयास है कि आप सभी जहां भी रहें सुखी रहें और सुरक्षित रहें। बीते साढ़े चार वर्षों के दौरान संकट में फंसे 2 लाख से ज्‍यादा भारतीयों को सरकार के प्रयासों से दुनिया के भिन्‍न-भिन्‍न देशों में मदद पहुंचाई गई है। आपकी सोशल सिक्‍योरिटी के साथ-साथ पासपोर्ट, वीजा, पीआईओ और ओसीआई कार्ड को लेकर भी तमाम प्रक्रियाओं को आसान करने की कोशिश सरकार कर रही है। प्रवासी भारतीयों के लिए कुछ महीने पहले ही एक नया कदम भी उठाया गया है। दुनिया भर में हमारी एम्‍बेसिस और कांउसलेटस को पासपोर्ट सेवा प्रोजेक्‍ट से जोड़ा जा रहा है। इससे आप सभी के लिए पासपोर्ट सेवा से जुड़ा एक centralize system तैयार हो जाएगा। बल्कि अब तो एक कदम आगे बढ़ते हुए chip based E-passport जारी करने की दिशा में भी काम चल रहा है।

 

स्टार्ट अप और NRI mentors को एक प्लेटफॉर्म पर लाने की काेशिश

साथियों, पासपोर्ट के साथ-साथ वीजा से जुड़े नियमों को भी सरल किया जा रहा है। ई-वीजा की सुविधा मिलने से आपके समय की बचत भी हो रही है और परेशानियां भी कम हुई हैं। अभी भी कोई समस्‍या इसमें है तो उसके सुधार के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं। आप में से अनेक इस बात से भी परिचित होंगे कि हमारी सरकार ने पीआईओ कार्ड को ओसीआई कार्ड में बदलने की प्रक्रिया को भी आसान बनाया है। साथियों आप अपनी मिट्टी से भले ही दूर है, लेकिन New India के निर्माण में आपकी सक्रिय भागीदारी में.. और बढ़ोतरी हो इसके लिए लगातार प्रयास चल रहे हैं। भारत में जो बदलाव आ रहा है, जो नये अवसर बन रहे हैं, उसमें आपका योगदान बहुत ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण है। बदलते हुए इस भारत में आप Research and Development और innovation में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। सरकार यह भी कोशिश कर रही है कि भारत के स्‍टार्ट अप और NRI mentors को एक साथ एक प्‍लेटफॉर्म पर लाएं। Defense Manufacturing भी आपके लिए एक अहम सेक्‍टर हो सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss