Home » Economy » PolicyA Note Of 100 Rupees Is Being Sold At Rs 181

100 रुपए का एक नोट बिक रहा है 181 रुपए में, 786 नंबर वाले एक नोट की कीमत 665 रुपए

बैंक से आम लोगों को नहीं मिल रहे है ये नोट, बेचे जा रहे हैं अधिक दाम पर

1 of

राजीव कुमार

नई दिल्ली। भारत में 100 रुपए के नोट 181 रुपए में खुलेआम बिक रहे हैं।  यह हैरान करने वाली बात है। क्योंकि अभी 100 रुपए के नोट की कोई किल्लत नहीं है। लेकिन ऐसा हो रहा है। ये वो नोट है जिन्हें कुछ माह पहले मोदी सरकार ने बाजार में सर्कुलेट किया है। बैंक की शाखाओं में आते ही ये नए नोट उड़न छू हो जाते हैं। आम लोगों को अभी ये नोट नसीब नहीं हो पा रहे है। यही वजह है कि 100 रुपए की एक गड्डी जिसमें 100 नोट होते हैं, 18,130 रुपए में मिल रही है। इसकी बिक्री ऑनलाइन की जा रही है। ईबे जैसी साइट पर इसे खुलेआम बेचा जा रहा है।

786 नंबर वाले 100 के नोट 665 रुपए में

100 रुपए के नए नोट जिसके नंबर के आखिर में 786 है, उसके एक नोट की कीमत 665 रुपए चल रही है। ईबे पर चल रही कीमत के मुताबिक 786 नंबर वाले 100 रुपए के एक नोट के लिए 8.99 डॉलर देने होंगे। प्रति डॉलर 74 रुपए के हिसाब से इसकी कीमत 665 रुपए होती है। वैसे ही, 100 रुपए की एक गड्डी (100 नोट) 245 डॉलर में बेची जा रही है। रुपए के हिसाब से इसके दाम 18,130 हुए। यानी कि 100 रुपए के एक नए नोट की कीमत 181 रुपए हो गई। अगर आप नए वाले 100 रुपए के एक ही सीरिज के पांच नोट लेना चाहते हैं तो आपको 15.34 डॉलर देने होंगे। डॉलर की करेंट दर के हिसाब से यह कीमत 1135 रुपए होती है।

आगे पढ़ें...

  

त्योहारी मौसम होने के कारण बढ़ गई है मांग

बैंककर्मियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि अभी बैंक की शाखाओं में 100 रुपए के नए नोट काफी कम मात्रा में आ रहे हैं। एटीएम में भी 100 रुपए के नए नोट नहीं डाले जा रहे हैं क्योंकि एटीएम को उस नोट के साइज के हिसाब से अभी तैयार किया जा रहा है। बैंककर्मियों ने बताया कि 100 रुपए के नए नोट की इतनी अधिक मांग है कि बैंक की शाखा में आते ही हाथोहाथ बंट जाते हैं। बैंककर्मियों के मुताबिक अभी शाखाओं के काउंटर से आम ग्राहकों को ये नोट नहीं दिए जा रहे हैं।

आगे पढ़ें...

बैंक विशेषज्ञों ने इस प्रकार की बिक्री को गलत बताया

बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि सरकार की तरफ से जारी किसी भी नोट की अधिक दाम में बिक्री करना गलत है। यह काम सिर्फ सरकार कर सकती है। इस मामले में ईबे से कोई संपर्क नहीं हो सका जिनकी ई-कॉमर्स साइट पर इन नोटों की सरेआम बिक्री की जा रही है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट