Home » Economy » PolicyMore Than 15 Dharamsala In Chandni Chowk Market

चांदनी चौक में शॉपिंग कीजिए और 75 रु में गुजारें रात, दिल्ली में इससे सस्ता ठहरने का इंतजाम नहीं

चांदनी चौक के इस मार्केट में हैं 15 से अधिक धर्मशाला

1 of

नई दिल्ली। एशिया के सबसे बड़े मार्केट चांदनी चौक में देशभर से होलसेल व्यापारी और रिटेलर खरीदारी करने आते हैं। दूर-दराज से आए लोगों के लिए एक दिन में शाॅपिंग खत्म करके वापस लौट जाना संभव नहीं है। ऐसे में अगर आप चांदनी चौक में शाॅपिंग करने आते हैं और महंगे होटल लेना आपके बजट में नहीं है तो आप महज 75 रुपए में यहां धर्मशाला में ठहर सकते हैं। मार्केट एसोसिएशन से जुड़े प्रेम शंकर ने बताया, मुगलकाल में यहां काफी संख्या में लोगों की बसावट हुआ करती थी लेकिन बाद में इसने पूरी तरह से मार्केट का रूप ले लिया। उस समय इस मार्केट में तकरीबन 50 से अधिक धर्मशाला हुआ करती थी, जिस पर आज दुकानदारों ने अवैध कब्जा कर लिया है। आज इस मार्केट में 15 से अधिक धर्मशाला चल रही है। वे बताते हैं, ‘सौ साल पहले यह धर्मशाला यहां के रेसिडेंट्स ने बनवाई थीं ताकि दूर-दराज से शाॅपिंग करने आए लोगों को यहां रहने में दिक्कत ना आएं। पहले व्यापारी अधिकतर मोटी रकम लेकर खरीदारी करने आते थे तब एटीएम का इतना चलन नहीं था तो सेफ्टी को देखते हुए व्यापारी धर्मशाला में ही रुकते थे। इस धर्मशाला में एक रात रुकने के लिए 75 रुपए लगते हैं। धर्मशालाओं का रखरखाव यहीं के लोग करते हैं।’

आगे पढ़ें..

 

 

 

 

 

वेडिंग और फेस्टिव सीजन में सबसे अधिक बुकिंग

प्रेम शंकर बताते हैं, इन धर्मशालाओं की डिमांड शादी के सीजन में सबसे अधिक होती है। वहीं फेस्टिव सीजन में भी काफी बुकिंग्स आती हैं। अधिकतर लोग बाहर से खरीदारी करने आते हैं, ऐसे में यहां एक दो दिनों तक रुकते हैं ताकि अच्छे से खरीददारी कर सकें। 

आगे पढ़ें..

इन धर्मशाला में दी जाती है सेवा

श्री दिगंबर जैन धर्मशाला, सिंधी पंचायत धर्मशाला, धानुका धर्मशाला, आरएस लक्ष्मीनारायण धर्मशाला सहित अन्य धर्मशाला हैं जो आज भी सेवा दे रही हैं। यहां अलग-अलग धमर्शालाओं के अलग-अलग किराए हैं। सभी धर्मशालाओं को राजाओं के महल जैसा बनाया गया है। इनके आसपास खाने-पीने की मशहूर दुकानें लगती हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट