बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyजॉब डाटा: नई नौकरियों पर कैसे मिले सही डाटा, टेक्निकल कमेटी बताएगी तरीका

जॉब डाटा: नई नौकरियों पर कैसे मिले सही डाटा, टेक्निकल कमेटी बताएगी तरीका

केंद्र सरकार नई नौकरियों का ऐसा डाटा कलेक्‍ट करने की योजना बना रही है जो सटीक हो और पूरी अर्थव्‍यवस्‍था की सही तस्‍वीर द

government forms technical committee on job data survey

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार नई नौकरियों का ऐसा डाटा कलेक्‍ट करने की योजना बना रही है जो सटीक हो और पूरी अर्थव्‍यवस्‍था की सही तस्‍वीर दिखाता हो।

 

सरकार का मानना है कि मौजूदा समय में नौकरियों का डाटा कलेक्‍ट करने के लिए जो तरीका अपनाया जा रहा है उसकी तमाम सीमाएं हैं और वह देश में काम कर रही लगभग 47 करोड़ वर्कफोर्स का डाटा कलेक्‍ट नहीं करता है। ऐसे में केंद्र सरकार ने पूर्व चीफ स्‍टैटिस्‍टीशियन प्रोफेसर टीसीए अनंत की अध्‍यक्षता में एक टेक्निकल टीम का गठन किया है। यह टीम जॉब डाटा कलेक्‍ट करने के तरीके में सुधार पर अपनी रिपोर्ट जल्‍द ही सरकार को सौंपेगी। 

 

नीति आयोग की सिफारिश पर आया पीरियाडिक लेबर फोर्स सर्वे 

 

लेबर मिनिस्‍ट्री के मुताबिक सरकार ने नौकरियों को लेकर डाटा जारी करने की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया है। इसके तहत नीति आयोग के तत्‍कालीन उपाध्‍यक्ष डॉ अरविंद पनगढि़या की अध्‍यक्षता वाली टास्‍कफोर्स की सिफारिश पर एनुअल इम्‍पलॉयमेंट अनइम्‍पलॉयमेंट सर्वे की जगह पर पीरियाडिक लेबर फोर्स सर्वे शुरू किया गया है। पीरियाडिक लेबर फोर्स सर्वे में न सिर्फ रूरल सेक्‍टर पर सिर्फ इम्‍पलॉयमेट अन इम्‍पलॉयमेंट पर एनअुअल डाटा होगा बल्कि अरबन सेक्‍टर का इम्‍पलॉयमेंट और अन इम्‍पलॉयमेंट डाटा होगा। इससे एनुअल इम्‍पलॉयमेंट अन इम्‍पलॉयमेंट डाटा की तुलना की जा सकेगी। 

 

10 या 10 से अधिक वर्कर्स वाली कंपनियों को ही कवर करता है क्‍वार्टरली इम्‍पलॉयमेंट सर्वे 

 

लेबर ब्‍यूरो रोजगार को लेकर क्‍वार्टरली इम्‍पलॉयमेंट सर्वे भी करता है। क्‍वार्टरली इम्‍पलॉयमेंट सर्वे एंटरप्राइज आधारित सर्वे है। यह सर्वे 10 या इससे अधिक वर्कर्स वाली कंपनियों में तिमाही होने वाले बदलाव को कैप्‍चर करने के लिए किया जाता है। इस सर्वे की कई सीमाएं हैं। जैसे 6 इकोनॉमिक सेन्‍सस का एंटरप्राइज डाटा। यह डाटा जनवरी 2013 से अप्रैल 2014 के बीच का है। इस सर्वे में अप्रैल 2014 के बाद जुड़ने वाली यूनिट को कवर नहीं किया गया। इसके अलावा यह सर्वे 10 या 10 से अधिक वर्कर वाली कंपनियों को ही कवर करता है। ऐसे में क्‍वार्टरली इम्‍पलॉयमेंट सर्वे सिर्फ 2.40 करोड़ वर्कर्स का डाटा ही कलेक्‍ट करता है। जबकि देश में लगभग 47 करोड़ वर्कर काम कर रहे हैं। 

 

EPFO का मंथली पेरोल डाटा 

 

कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन यानी EPFO ने मंथली आधार पर पेरोल डाटा जारी करना शुरू किया है। प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना के तहत 46.36 लाख नए कर्मचारियों को एनरोल किया गया है। इस स्‍क्‍ीम के तहत 58,400 कंपनियों को 855 करोड़ रुपए दिए गए हैं। इस स्‍क्‍ीम के तहत नई नौकरियां क्रिएट करने वाली कंपनियों को सरकार वित्‍तीय प्रोत्‍साहन देती है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट