Home » Economy » Policymaldive complains about inflated cost in china project

चीन की बिजनेस स्ट्रैटजी पर भड़का मालदीव, कहा, बढ़ा रहा है प्रोजेक्ट की लागत

मोदी के सपोर्ट के बाद मालदीव ने चीन को दिखाए तेवर

maldive complains about inflated cost in china project

नई दिल्ली। मालदीव के नए राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सालिह के कार्यभार संभालने के बाद मालदीव और चीन के रिश्तों में तलखी लगातार बढ़ रही है। मालदीव के नए फाइनेंस मिनिस्टर ने कहा है कि चीन मालदीव में जिन प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है उसकी लागत वह बढ़ा चढ़ा कर बता रहा है जबकि प्रोजेक्ट की प्रस्तावित लागत काफी कम थी। हालांकि उनका कहना है कि मालदीव अब पहले के समझौतों से पीछे नहीं हट सकता है। 

 

नए राष्ट्रपति कांट्रैक्ट की कर रह रहे हैं समीक्षा 

 

राष्ट्रपति इब्राहित मोहम्मद सालिह का प्रशासन पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यमीन के समय में चीन को दिए गए कांट्रैक्ट की समीक्षा कर रहा है। ज्यादातर कांट्रैक्ट चीन की कंपनियों को दिए गए हैं और आशंका जताई जा रही है कि मालदीव चीन के कर्ज के जाल में फंस चुका है। चीन ने पिछले पांच साल के दौरान मालदीव में एक शीब्रिज का निर्माण किया है जो कि माले को दूसरे आइसलैंड पर स्थित एयरपोर्ट से जोड़ता है। इसके अलावा चीन एयरपोर्ट को डेवलप कर रहा है। साथ ही चीन की कंपनियां समुद्र से निकाली गई जमीन पर हाउसिंग प्रोजेक्ट पर काम कर रही हैं। 

 

चीन बढ़ा रहा है प्रोजेक्ट की लागत 

 

मालदीव के फाइनेंस मिनिस्टर इब्राहिम अमीर के मुताबिक चीन को माले में एक हॉस्पिटल बनाने का कांट्रैक्ट दिया गया था जिसकी लागत बढ़ कर 140 मिलियन डॉलर हो गई है जबकि दूसरी कंपनी ने इस हॉस्पिटल को 54 मिलियन डॉलर में बनाने का ऑफर दिया था। उनका कहना है कि सरकार इसको लेकर अब ज्यादा कुछ नहीं कर सकती है कि क्योंकि कई प्रोजेक्ट पहले ही पूरे हो चुके हैं। 

 

चीन ने इन देशों में बनाए हैं बंदरगाह, पुल और हाइवे 

 

चीन ने बांग्लादेश, नेपाल श्रीलंका और पाकिस्तान में भी बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट के तहत बंदरगाह, पुल और हाईवे बनाए हैं। लेकिन पिछले कुछ समय चीन की इस बात के लिए आलोचना हो रही कि इन प्रोजेक्ट की वजह से कई छोटे देश कर्ज के जाल में फंस रहे हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट