बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyगांव हो या पहाड़ सिर्फ 2 घंटे में लगाएं पोर्टेबल पेट्रोल पंप, 90 लाख का खर्च, पेट्रोलियम मंत्रालय की हरी झंडी

गांव हो या पहाड़ सिर्फ 2 घंटे में लगाएं पोर्टेबल पेट्रोल पंप, 90 लाख का खर्च, पेट्रोलियम मंत्रालय की हरी झंडी

पोर्टेबल पेट्रोल पंप के तीन मॉडल होंगे।

how you can start portable petrol pump

राजीव कुमार

 

अब पेट्रोल पंप लगाने के लिए पेट्रोलियम मंत्रालय और पेट्रोलियम कंपनियों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। आप सिर्फ दो घंटे में पेट्रोल पंप लगा सकते हैं। इसे पोर्टेबल पेट्रोल पंप का नाम दिया गया है। दो घंटे में आप इस पेट्रोल पंप को हटा भी सकते हैं। 90 लाख रुपये में आप पोर्टेबल पेट्रोल पंप का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। पोर्टेबल पेट्रोल पंप की तकनीक को पेट्रोलियम मंत्रालय ने अपनी मंजूरी दे दी है। पोर्टेबल पेट्रोल पंप की तकनीक को विकसित करने वाली कंपनी एलिंज ग्रुप बुधवार को इसकी औपचारिक घोषणा करने जा रही हैं।

 

तीन मॉडल होंगे पेट्रोल पंप के

 

पोर्टेबल पेट्रोल पंप के तीन मॉडल होंगे। पहले मॉडल वाले के लिए 90 लाख रुपये खर्च करने होंगे। दूसरे मॉडल के लिए 1 करोड़ रुपये तो तीसरे के लिए 1.2 करोड़ रुपये खर्च होंगे। कंपनी डीलर नियुक्त करेगी। राज्य के स्थानीय निकाय की इजाजत से किसी भी जगह पर पोर्टेबल पंप लगाए जा सकते है।

 

पेट्रोल के साथ डीजल, मिट्टी के तेल, गैस सब कुछ मिलेंगे

 

पोर्टेबल पंप से पेट्रोल के साथ डीजल, गैस, मिट्टी के तेल सब कुछ मिलेंगे। इस पेट्रोल पंप की क्षमता 9000 से 35,000 लीटर होगी। इस पेट्रोल पंप को गांव व पहाड़ी इलाके कहीं भी लगाए जा सकते हैं। कंपनी के रिजनल डेवलेपमेंट मैनेजर पी. भट ने बताया कि इस तकनीक को चेक कंपनी पेट्रोकार्ड के साथ मिलकर विकसित किया गया है। पिछले 8 सालों से इस तकनीक पर काम किया जा रहा था। इन काम में पेट्रोलियम कंपनियों के साथ भी विचार-विमर्श किया गया।

 

सबसे पहले उत्तर प्रदेश में लगेंगे पोर्टेबल पंप

 

भट ने बताया कि सबसे पहले उत्तर प्रदेश की 2000 जगहों पर पोर्टेबल पंप लगाने की योजना है। कंपनी इस काम के लिए डीलरशीप देगी। डीलर को राज्य सरकार की तरफ से लाइसेंस दिए जाएंगे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट