बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policy4 करोड़ युवाओं ने मोदी सरकार से डायरेक्‍ट मांगी नौकरी, सिर्फ 2% को मिला सपोर्ट

4 करोड़ युवाओं ने मोदी सरकार से डायरेक्‍ट मांगी नौकरी, सिर्फ 2% को मिला सपोर्ट

अब तक देश के 4 करोड़ युवाओं ने मोदी सरकार से डायरेक्‍ट नौकरी मांगी है लेकिन सिर्फ 2 फीसदी यानी 8 लाख युवाओं को ही सरकार

1 of

नई दिल्‍ली. अब तक देश के 4 करोड़ युवाओं ने मोदी सरकार से डायरेक्‍ट नौकरी मांगी है लेकिन सिर्फ 2 फीसदी यानी 8 लाख युवाओं को ही सरकार ने नौकरी दिलाने में मदद की। मोदी सरकार अपने 4 साल के कार्यकाल में युवाओं को नौकरी न दे पाने के लिए पहले ही आलोचना का सामना कर रही है। ऐसे में यह डाटा मोदी सरकार की मुश्किल को और बढ़ा सकता है। बता दें, भाजपा ने 2014 आम चुनाव के घोषणापत्र में हर साल 1 करोड़ नौकरी देने का वादा किया था। 

 

4 करोड़ युवाओं ने कैसे मांगी सरकार से डायरेक्‍ट नौकरी? 

मोदी सरकार से 4 करोड़ युवाओं ने डायरेक्‍ट नौकरी केंद्र सरकार के जॉब पोर्टल नेशनल कैरियर सर्विस एनसीएस पर खुद को रजिस्‍टर्ड करा के मांगी थी। लेकिन इन 4 करोड़ में से  सिर्फ 2 फीसदी यानी 8 लाख युवाओं को सरकार ने नौकरी दिलाने में मदद की। इनमें से कितनी को नौकरी मिली यह पता नहीं है। केंद्र सरकार का दावा है कि एनसीएस ऐसे युवाओं की जॉब सर्च करने में मदद करता है जो इस पोर्टल पर खुद को रजिस्‍टर्ड कराते हैं। युवा इस पोर्टल पर देख सकते हैं कि कहां नौकरियों की वैकेंसी है और वे इस पोर्टल के जरिए नौकरी के लिए आवेदन भी कर सकते हैं। 


NCS पोर्टल पर 14.86 लाख इम्‍पलॉयर हैं रजिस्‍टर्ड 

एनसीएस पोर्टल पर 14.86 लाख एम्‍पलॉयर रजिस्‍टर्ड हैं। एनसीएस पोर्टल नौकरी मांगने वाले और नौकरी देने वालों को एक प्‍लेटफॉर्म मुहैया कराता है। रजिस्‍टर्ड इम्‍पलायर पोर्टल पर रजिस्‍टर्ड नौकरी मांगने वाले युवाओं की प्रोफाइल को शार्टलिस्‍ट कर सकता है। अगर नौकरी मांगने वाला इंटरव्‍यू क्लियर करने के साथ दूसरी जरूरी शर्ते पूरा करता है तो उसे नौकरी मिल जाती है। 

 

पोर्टल पर रजिस्‍टर्ड नौकरी मांगने वाले  3.96 करोड़ 
पोर्टल पर रजिस्‍टर्ड इम्‍पलॉयर  14.86 लाख 
पोर्टल से मिला सपोर्ट  8.09  लाख 

(सोर्स- श्रम मंत्रालय)  

 

फॉर्मल सेक्‍टर में कम पैदा हो रहीं है नौकरियां 

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल के चीफ इकोनॉमिस्‍ट डीके जोशी ने moneybhaskar.com को बताया कि एनसीएस पोर्टल का यह डाटा नौकरियां क्रिएट करने की जरूरत पर जोर देता है। मौजूदा समय में हमारे पास पढ़ें लिखे युवाओं की संख्‍या बहुत अधिक है और हम उनमें से बहुत कम लोगों को नौकरियां दे पा रहे हैं। खास कर फॉर्मल सेक्‍टर में उतनी नौकरियां पैदा नहीं हो रहीं हैं जितनी नौकरियों की मांग है। 

 

आगे पढ़ें - सरकारी और प्राइवेट दोनों सेक्‍टर में नौकरी दिलाने में मदद करता है NCS पोर्टल 

 

अगर आप बेरोजगार हैं और नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो एनसीएस (नेशनल कैरियर सर्विस) पोर्टल आपकी मदद कर सकता है। यहां पर देशभर में प्लंबर, बड़ई से लेकर टीचर, आईटी एक्सपर्ट जैसे खाली पदों की जानकारी होती है।  यह पोर्टल केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की देखरेख में चलता है।  अहम बात ये है कि इस पोर्टल पर सारी सुविधाएं फ्री हैं। एनसीएस पोर्टल पर 14.86 लाख इम्‍पलॉयर रजिस्‍टर्ड हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट