Home » Economy » PolicyModi-Putin sign defence system deal, China will be on India's radar

मोदी-पुतिन के बीच 40000 करोड़ का सौदा, चीन भी होगा भारत के रडार पर

एस-400 ट्रायंफ दुनिया की सबसे घातक सर्फेस टू एयर मिसाइल्स में गिनी जाती है

1 of

 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच शुक्रवार को हुआ सौदा चीन की नींद उड़ाने के लिए काफी है। भारत ने रूस से एस-400 ट्रायंफ एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को 40 हजार करोड़ रुपए में खरीद लिया है। इसकी रेंज 400 किमी है, यानी अब चीन भी भारत की रडार पर होगा। यह दुनिया की सबसे घातक सर्फेस टू एयर मिसाइल्स में गिनी जाती है।

 

 

एस-400 ट्रायंफ

यह रूस का सबसे आधुनिक लंबी रेंज की सर्फेस टू एयर मिसाइल डिफेंस सिस्टम माना जाता है। यह क्रूज, बैलिस्टिक मिसाइलों को मारकर गिरा सकता है। यहां की कंपनी अल्माज-एंटे का बनाया यह मिसाइल सिस्टम इससे पहले बने एस-300 का अपग्रेडेड वर्जन है। यह 600 किमी दूर अपने टारगेट को ट्रैक कर सकता है। बताया जाता है कि भारत में लगा एस-400 सिस्टम देश की सीमा के बाहर उड़ रहे एयरक्राफ्ट को ट्रैक कर सकता है, जो दुश्मन सेना के लिए बड़ा खतरा होगा।

 

आगे पढ़ें...

 

भारत के लिए क्यों हैं जरूरी?

पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन के संभावित हमलों से बचने के लिए भारत को अपनी तैयारी रखनी जरूरी है। पाकिस्तान के पास 20 से भी ज्यादा फाइटर स्क्वाड्रन हैं, जिनमें अपग्रेडिड एफ-16 फाइटर जेट मौजूद हैं। बड़ी संख्या में पाकिस्तान ने चीन से जे-17 फाइटर जेट लिए हैं। चीन के पास 1,700 फाइटर जेट हैं, जिनमें 4th generation के 800 फाइटर्स शामिल हैं। भारतीय वायु सेना के प्रमुख धनोआ ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि भारत जैसे खतरे में जी रहा है, वैसा खतरा किसी और देश पर नहीं है। इसलिए भारत काे अपनी सैन्य ताकत अपने दुश्मनों के बराबर करनी ही होगी।

 

आगे पढ़ें

 

अमेरिका न खड़ी कर दे अड़चन

काफी समय से अमेरिका उन देशों पर आर्थिक प्रतिबंध लगा रहा है जो ईरान या रूस के साथ बड़े समझौते कर रहे हैं। भारत के ऊपर भी यही खतरा मंडरा रहा है कि रूस से डील करने के बाद अमेरिका उस पर आर्थिक प्रतिबंध न लगा दे। एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम काफी बड़ी डील है, लिहाजा इस बात की संभावना है कि अमेरिका इस डील के बाद भारत के खिलाफ कोई कदम उठा दे।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट