बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policy15 अगस्‍त से मर्ज होंगे आपके 1 से ज्‍यादा UAN, EPFO उठाने जा रहा है बड़ा कदम

15 अगस्‍त से मर्ज होंगे आपके 1 से ज्‍यादा UAN, EPFO उठाने जा रहा है बड़ा कदम

सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर ने मेंबर्स की शिकायतों का तेजी से निस्‍तारण करने के लिए 5 एक्‍शन प्‍वाइंट तय किए हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन ( EPFO) ने अपने मेंबर्स के 1 से अधिक यूनीवर्सल अकाउंट नंबर यानी UAN मर्ज करने का फैसला किया है। ईपीएफओ इसके लिए 15 अगस्‍त से UAN मर्ज करने का अभियान शुरू करने जा रहा है। EPFO को सबसे ज्‍यादा शिकायतें पीएफ ट्रांसफर कराने को लेकर मिली हैं। ऐसे में ईपीएफओ ने इस तरह की शिकायतों पर अंकुश लगाने के लिए मेंबर्स के 1 से अधिक यूएएन को मर्ज करने का फैसला किया है। EPFO के सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर ने समीक्षा बैठक में यह फैसला किया है। इसके अलावा सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर ने मेंबर्स की शिकायतों का तेजी से निस्‍तारण करने के लिए 5 एक्‍शन प्‍वाइंट तय किए हैं। 

 

मेंबर्स की शिकायतें ऑनलाइन होंगी दर्ज 

 

EPFO ने फैसला किया है कि अगर कोई मेंबर्स फील्‍ड ऑफिस में अपनी शिकायत के निस्‍तारण के लिए जाता तो उस मेंबर की शिकायत EPFiGMS पर दर्ज की जाए और और शिकायत का रजिस्‍ट्रेशन नंबर मेंबर को मुहैया कराया जाए जिससे  शिकायत के निस्‍तारण के स्‍टेटस को ऑनलाइन ट्रैक कर सके। इससे मेंबर्स को अपनी शिकायतों के निस्‍तारण के लिए फील्‍ड ऑफिस का चक्‍कर नहीं लगाना पड़ेगा। 

 

ये भी पढें-20 साल बाद बच्चे को कराना है एमबीए या एमटेक, फ्यूचर वैल्‍यू फॉर्मूूले से खुद चेक करें, कितना आएगा खर्च

एक से अधिक UAN को मर्ज करने के लिए चलेगा अभियान 

 

वित्‍त वर्ष 2017 -18 में देखा गया है कि मेंबर्स की सबसे ज्‍यादा शिकायतें पीएफ अकाउंट ट्रांसफर करने को लेकर रहीं हैं। ऐसी शिकायतों पर अंकुश लगाने के लिए मेंबर के एक से अधिक यूएएन को मर्ज किए जाने की जरूरत है। इसके लिए 15 अगस्‍त 2018 से अभियान शुरू किया जाना चाहिए। 

 

अपील के लिए बनेगा मकैनिज्‍म

 

EPFOने फेसला किया है कि अगर EPFiGMS पर रजिस्‍टर्ड शिकायत के निस्‍तारण की गुणवत्‍ता से मेंबर संतुष्‍ट नहीं है या उनकी शिकायत का निस्‍तारण में देरी हो रही है तो इसके लिए ऐसा मकैनिज्‍म बनाया जाए जहां पर मेंबर अपील कर सके। इसके अलावा जोनल एसीसीसी भी शिकायतों के निस्‍तारण की गुणवत्‍ता को लगातार चेक करेंगे। 

 

आगे पढ़े- 

15 अगस्‍त से आधार को यूएएन से लिंक करने का शुरू होगा अभियान 

 

सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर ने समीक्षा के दौरान पाया कि सबसे ज्‍यादा शिकायतें क्‍लेम सेंटेलमेंट में देरी और क्‍लेम रिजेक्‍ट होने की दर ज्‍यादा होने से पैदा हो रही हैं। क्‍लेम में देरी की समस्‍या का समाधान ऑनलाइन क्‍लेम सेटेलमेंट से किया जा सकता है। लेकिन ऑनलाइन क्‍लेम वहीं मेंबर फाइल कर सकता है जिसने ईपीएफओ डाटा बेस में आधार बेस्‍ड केवाईसी का मानक पूरा किया है। ऐसे में 15 अगस्‍त 2018 से मेंबर के आधार को यूएएन से लिंक करने का अभियान शुरू करने का फैसला किया है। 

डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट के लिए चलेगा अभियान 

EPFO ने पाया है कि जब से पेंशनर्स के लिए डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र शुरू किया गया है पेंशन से जुड़ी शिकायतों की संख्‍सा तेजी से बढ़ी है। बहुत से पेंशनर्स देश के दूरदराज के इलाकों में रहते हैं जिससे वे डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र सबमिट नहीं कर पाते है। पेंशन से जुड़ी शिकायतें बढ़ने का यह एक कारण हो सकता है। ऐसे में यह फैसला किया गया है कि फील्‍ड ऑफिस पेंशनर्स से डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जमा कराने का अभियान शुरू करें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट