Home » Economy » Policyhdfc hike rate of lenging ahead of monitory policy meeting

HDFC का कर्ज हुआ महंगा, रिटेल लेडिंग रेट में 0.1 फीसदी का इजाफा

रेपो रेट 0.25 फीसदी तक बढ़ा सकता है रिजर्व बैंक

hdfc hike rate of lenging ahead of monitory policy meeting

मुंबई। हाउसिंग फाइनेंस कंपनी HDFC ने सोमवार को अपनी रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट 10 आधार अंक यानी 0.1 फीसदी तक बढ़ा दिया है। एचडीएफसी ने लेडिंग रेट में इजाफा रिजर्व बैंक की मॉनिटरी पॉलिसी से पहले किया है। माना जा रहा है कि रिजर्व बैंक मॉनिटरी पॉलिसी स्टेटमेंट में रेपो रेट में इजाफा कर सकता है। एचडीएफसी के कर्ज की नई दर 8.80 फीसदी से लेकर 9.05 फीसदी कर रेंज में है। नई दरें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं। 

 

इससे पहले शनिवार को पंजाब नेशनल बैंक ने कम अविध के कर्ज के लिए लेडिंग रेट यानी एमसीएलआर 0.2 फीसदी तक बढ़ा दिया था। नया एमसीएलआर रेट सोमवार को लागू हो गया है। इससे पंजाब नेशनल बैंक से एमसीएलआर पर कर्ज लेने वालों के लिए कर्ज महंगा हो गया है।

 

रेपो रेट 0.25 फीसदी तक बढ़ा सकता है रिजर्व बैंक

 

रिजर्व बैंक ने 5 अक्टूबर को घोषित होने वाली मॉनिटरी पॉलिसी स्टेटमेंट में रेपो रेट 25 आधार अंक यानी 0.25 फीसदी तक बढ़ा सकता है। माना जा रहा है कि डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर होने और बढ़ती महंगाई की वजह से रिजर्व बेंक रेपो रेट बढ़ाने का फैसला कर सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट