विज्ञापन
Home » Economy » PolicyLoan schemes : how can start agri startup

3 करोड़ तक के प्रोजेक्ट को लोन देगी मोदी सरकार, 2% कम देना होगा ब्याज

Agri Startups के लिए मोदी सरकार की बड़ी पहल

Loan schemes : how can start agri startup
मोदी सरकार ने कोऑपरेटिव सेक्टर की स्टार्ट-अप्स के लिए बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने एक ऐसी स्कीम लॉन्च की है, जिसके तहत इनोवेटिव प्रोजेक्ट्स को 3 करोड़ रुपए तक के प्रोजेक्ट का लोन दिया जाएगा। यह लोन सामान्य टर्म लोन के मुकाबले 2 फीसदी सस्ता होगा। एग्रीकल्चर मिनिस्टर राधा मोहन सिंह ने यह स्कीम लॉन्च की। क्या है मकसद इस मौके पर एग्रीकल्चर मिनिस्टर ने कहा कि इस नई स्कीम काम मकसद हाल ही में गठित कोऑपरेटिव सोसायटीज को इनोवेटिव वेंचर स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस स्कीम का फायदा वे कोऑपरेटिव संगठन उठा सकेंगे, जिनके पास नए व इनोवेटिव आइडिया हैं। किन्हें मिलेगा लोन जो कोऑपरेटिव संगठन, पिछले एक साल से काम कर रही हैं और जिनका नेटवर्थ पॉजिटिव है, वे लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। दो साल तक नहीं लौटाना होगा लोन इस स्कीम के तहत उन प्रोजेक्ट्स को लोन दिया जाएगा, जिनकी कुल प्रोजेक्ट कॉस्ट 3 करोड़ रुपए से कम होगी। इस लोन का मॉराटोरियम पीरियड दो साल होगा। यानी कि दो साल तक लोन लौटाया नहीं जा सकेगा। हालांकि मॉराटोरियम पीरियड में प्रोजेक्ट के हिसाब से बदलाव हो सकता है।


नई दिल्ली. मोदी सरकार ने कोऑपरेटिव सेक्टर की स्टार्ट-अप्स के लिए बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने एक ऐसी स्कीम लॉन्च की है, जिसके तहत इनोवेटिव प्रोजेक्ट्स को 3 करोड़ रुपए तक के प्रोजेक्ट का लोन दिया जाएगा। यह लोन सामान्य टर्म लोन के मुकाबले 2 फीसदी सस्ता होगा। एग्रीकल्चर मिनिस्टर राधा मोहन सिंह ने यह स्कीम लॉन्च की। 

 

क्या है मकसद 
इस मौके पर एग्रीकल्चर मिनिस्टर ने कहा कि इस नई स्कीम काम मकसद हाल ही में गठित कोऑपरेटिव सोसायटीज को इनोवेटिव वेंचर स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस स्कीम का फायदा वे कोऑपरेटिव संगठन उठा सकेंगे, जिनके पास नए व इनोवेटिव आइडिया हैं। 

 

किन्हें मिलेगा लोन 
जो कोऑपरेटिव संगठन, पिछले एक साल से काम कर रही हैं और जिनका नेटवर्थ पॉजिटिव है, वे लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 

 

 

दो साल तक नहीं लौटाना होगा लोन 
इस स्कीम के तहत उन प्रोजेक्ट्स को लोन दिया जाएगा, जिनकी कुल प्रोजेक्ट कॉस्ट 3 करोड़ रुपए से कम होगी। इस लोन का मॉराटोरियम पीरियड दो साल होगा। यानी कि दो साल तक लोन लौटाया नहीं जा सकेगा। हालांकि मॉराटोरियम पीरियड में प्रोजेक्ट के हिसाब से बदलाव हो सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन