Home » Economy » Policygovt has decided not to hike prices of foodgrains sold via PDS

PDS पर अनाज के दाम नहीं बढ़ाएगी सरकार, मिलता रहेगा 2 रु/kg गेहूं और 3 रु/kg चावल

सरकार ने एक और साल के लिए पीडीएस के माध्यम से बेचे जाने वाले खाद्यान्नों की कीमतों में वृद्धि न करने का फैसला किया है

1 of

नई दिल्ली। सरकार ने एक और साल के लिए सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के माध्यम से बेचे जाने वाले खाद्यान्नों की कीमतों में वृद्धि न करने का फैसला किया है। यह जानकारी फूड मिनिस्‍टर राम विलास पासवान ने दी।

 

यह है कीमत 
नेशनल फूड सिक्‍योरिटी एक्‍ट (एनएफएसए) के तहत पीडीएस के माध्यम से राशन डिपो में चावल 3 रुपए प्रति किलोग्राम, गेहूं 2 रुपए प्रति किलोग्राम और मोटा अनाज 1 रुपए  प्रति किलोग्राम के हिसाब से सप्‍लाई किया जाता है। 

 

मोदी का फैसला 
पासवान ने बताया, "प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चावल, गेहूं और मोटे अनाज के  लिए क्रमश: 3, 2 और 1 रुपये प्रति किलो की दर से अपरिवर्तित रखने का निर्णय लिया है। सरकार ने कम आय वर्ग के लोगों के हितों का ध्‍यान रखते हुए यह निर्णय लिया है और इस वर्ग के प्रति अपनी वचनबद्धता का प्रदर्शन किया है।"

 

तीन साल में होते हैं रिवाइज
पिछले यूपीए सरकार के दौरान 2013 में संसद में पारित एनएफएसए के तहत, हर तीन साल में अनाज की कीमतों में संशोधन का प्रावधान किया गया है। 

 

यह भी पढ़ें - 

2019 में घर-बिजली-सड़क से मिल जाए वोट, मोदी सरकार ने घटाई 5 बड़ी स्कीम्स की डेडलाइन

 

1.4 लाख करोड़ होते हैं खर्च 
वर्तमान में, सरकार देश में 5,00,000 राशन की दुकानों के माध्यम से प्रति माह प्रत्येक व्यक्ति को 5 किलोग्राम सब्सिडी वाले अनाज की आपूर्ति करती है, जिस पर  सालाना 1.4 लाख करोड़ रुपये सरकार की ओर से खर्च किए जाते हैं। एनएफएसए को नवंबर 2016 में देश भर में लागू किया गया था। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss