विज्ञापन
Home » Economy » PolicyEmployees Provident Fund rules

एक महीने की नौकरी में हो जाती है इंप्लॉई की मौत तो नॉमिनी को मिलेंगे 6 लाख रुपए, जानिए EPFO से जुड़े ये खास नियम

बच्चों को 25 साल की उम्र तक मिलेगा पेंशन का 25 फीसदी हिस्सा

Employees Provident Fund rules

नई दिल्ली। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में इंसान के जीवन का कोई भरोसा नहीं है। ऐसे में यदि नौकरीपेशा व्यक्ति की अचानक से मौत हो जाती है तो परिवार के सामने कई समस्याओं खड़ी हो जाती है। इस स्थिति में EPFO उस व्यक्ति के परिवार को बड़ी मदद दे सकते हैं। EPFO के नियमों के मुताबिक, यदि  किसी व्यक्ति की नौकरी ज्वॉइन करने के एक महीने बाद मौत हो जाती है तो नॉमिनी को पेंशन दी जाती है।

 

इसके अलावा यदि व्यक्ति के बच्चे हैं तो दो बच्चों को 25 साल की उम्र तक पेंशन की 25 फीसदी रकम हर महीने दी जाती है। इसके साथ ही नॉमिनी को 6 लाख रुपए का बीमा क्लेम भी दिया जाता है। इसके अलावा  EPFO के कई ऐसे नियम हैं जिनके बारे में हर कोई नहीं जानता लेकिन लोगों के लिए इन नियमों के बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी है। आइए जानते हैं इन नियमों के बारे में- 

 

  •  यदि कोई भी व्यक्ति दो महीने से ज्यादा समय तक बेरोजगार बैठता है तो वह अपना पीएफ निकाल सकता है। 
  • अगर कोई व्यक्ति 5 साल या उससे अधिक समय तक हर महीने अपना पीएफ कटवाता है तो उसे पैसे निकालते वक्त इनकम टैक्स नहीं देना होता है।
  •  इसके अलावा, हेल्थ प्रॉब्लम और कंपनी बंद होने के कारण यदि व्यक्ति की नौकरी चली जाती है तो भी पीएफ निकालने पर उसे किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं देना पड़ता। 
  •  इसके साथ ही व्यक्ति यदि घर खरीदता है या फैमिल मेंबर्स की शादी के लिए एडवांस्ड पीएफ निकाला जा सकता है।
  •  व्यक्ति  परिवार के किसी भी सदस्य जैसे बच्चे, भाई, बहन या खुद की शादी के लिए अपने अकाउंट से 50 फीसदी तक पीएफ निकाल सकता है। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि कि सब्सक्राइबर 7 सालों से EPFO का सदस्य हो।
  •  इसके साथ ही व्यक्ति अपने बच्चों की 10वीं की पढ़ाई के लिए अपने EPFO से  ब्जाय के साथ अपने हिस्से का 50% हिस्सा निकाला जा सकता है।  लेकिन इसके लिए जरूरी है कि कि सब्सक्राइबर 7 सालों से EPFO का सदस्य हो।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन