बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policy20 रुपए के डेली खर्च से 30 लाख का घर हो जाएगा सेफ, बारिश-भूकंप के नुकसान की हो जाएगी भरपाई

20 रुपए के डेली खर्च से 30 लाख का घर हो जाएगा सेफ, बारिश-भूकंप के नुकसान की हो जाएगी भरपाई

देश भर से बारिश से नुकसान की खबरें आ रही है, अगर Home Insurance ले लें तो ऐसे नुकसान की भरपाई हो सकती है

1 of

नई दिल्‍ली. देश भर में बारिश की वजह से नुकसान की खबरें आ रही हैं। नोएडा सहित कई इलाकों में बारिश की वजह से बिल्डिंग गिर गई, जिसकी वजह से जान का नुकसान तो हुआ ही, लोगों का लाखों रुपए के माल (सामान) का भी नुकसान हुआ है। कई जगह लोग तो बच गए, लेकिन उनका घर और सामान तबाह हो गया। ऐसी स्थिति से बचने के लिए यदि आप समय रहते होम इंश्‍योरेंस (Home Insurance) करा लें तो आपके नुकसान की भरपाई हो सकती है। देश में कई बीमा कंपनियों होम इंश्‍योरेंस करती हैं। सबके अलग-अलग प्रीमियम और शर्तें हैं, अगर आपके घर की कीमत 30 लाख रुपए हैं और आप घर के साथ-साथ घर में रखे कीमती सामान का बीमा करा लेते हैं तो आपको डेली लगभग 20 रुपए खर्च करने होंगे। आइए, जानते हैं कि होम इंश्‍योरेंस के इस प्‍लान के बारे में 

 

क्‍या होगा कवर 
मनी भास्‍कर ने  बजाज आलियांज जनरल इन्श्योंरेंस कंपनी लिमिटेड के एक्‍जीक्‍यूटिव से एक केस स्टडी पर बात की, जिसके आधार पर उन्होंने बताया कि अगर एक फ्लैट फ्लैट की कीमत 30 लाख रुपए है और वह 5 साल पुराना है। साथ ही घर में लगभग 3 लाख रुपए का इलेक्‍ट्रॉनिक सामान है, जैसे कि टीवी, फ्रिज, एसी, लैपटॉप, पंखें आदि। इसी तरह फर्नीचर आदि की कीमत लगभग 2 लाख रुपए हो। इसके अलावा ज्वैलरी करीब 1 लाख रुपए की है, तो इन सभी चीजों का इन्श्योरेंस कवर हो सकता है। जिससे बाढ़, भूकंप, आग लगने आदि किसी भी अनहोनी की स्थिति में नुकसान की भरपाई कवर के जरिए होती है।

 

कितना होगा प्रीमियम 
एक्‍जीक्‍यूटिव ने बताया कि  कि 1 साल का प्रीमियम 7110 रुपए होगा। यानी कि आपको लगभग 20 रुपए रोजाना खर्च करने होंगे। इसमें घर और सामान कवर हो जाएगा। 

 

ये होते हैं कवर 

  1. स्‍ट्रक्‍चर : घर को किसी भी तरह का नुकसान, जैसे फिक्‍सचर एवं फिटिंग, कोई रेनोवेशन, जो आग, भूकंप या बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्‍त हुआ हो, इंश्‍योरेंस में कवर होता है। इसमें गैराज, ड्रेनेज और सीवर भी शामिल है। 
  2. घर में रखा सामान : इंश्‍योरेंस में घर में कीमती सामान, अप्‍लायंसेस, जेवरात भी कवर होती है। आप इन्‍हें ट्रांसपोर्टेशन के दौरान होने वाले नुकसान में भी कवर कर सकते हैं। 
  3. चोरी : होम इंश्‍योरेंस में आपके घर में हुई चोरी के कारण आपको हुए नुकसान की पूरी भरपाई की जाती है। 
  4. अल्‍टरनेट एकोमेडेशन : यदि आपकी प्रॉपर्टी पूरी तरह क्षतिग्रस्‍त हो गई है और आप किसी और जगह रहते हैं तो उस पर आने वाले खर्च का भुगतान इंश्‍योरेंस कंपनी द्वारा किया जाएगा। 
  5. कुछ पॉलिसी आपको लीगल या मेडिकल लायबिलिटी का भी भुगतान करती है, जिसमें आपके घरेलू नौकर या तीसरी पार्टी को नुकसान पहुंचा हो। 

 

आगे पढ़ें : क्‍या नहीं होता कवर 

यह भी पढ़ें : कम हो जाएगा होम इंश्‍योरेंस का प्रीमि‍यम, 5 बातों का रखेंगे ध्‍यान

होम इंश्‍योरेंस में ये कवर नहीं होते 

 

लापरवाही : अगर आप  बाहर जा रहे हों और घर को लॉक करना भूल गए हो या वाटर हीटर को बंद करना भूल गए हो। यदि आपने घर की सुरक्षा के लिए कोई जरूरी उपाय नहीं किए हैं तो आपको होम इंश्‍योरेंस नहीं मिलेगा। 

 

 इंटेंट : यदि आपने जानबूझ कर अपने घर को नुकसान पहुंचाया है तो आपको होम इंश्‍योरेंस का फायदा नहीं मिलेगा। 

 

वियर एंड टीयर :  कुछ निरंतर इस्‍तेमाल आपके सामान को नुकसान पहुंचा सकते हैं। जैसे कि आपके घर में रखे सामान को जंग या दीमक लग जाए तो उस सामान का इंश्‍योरेंस में कवर नहीं होता। 

आगे पढ़ें : और क्‍या कवर नहीं होता 

ये भी नहीं होते कवर 

अज्ञात कारण : यदि आपके घर का सामान को नुकसान तो पहुंचा है, लेकिन कारण नहीं पता चल पा रहा है तो ऐसी परिस्थितियों में होम इंश्‍योरेंस का फायदा नहीं मिलता। 

युद्ध : युद्ध के कारण होने वाले नुकसान को होम इंश्‍योरेंस में कवर नहीं किया जाता। 

न्‍यूक्लियर एवं रेडिएशन लॉस : रेडिएशन या न्‍यूक्लियर की वजह से होने वाले नुकसान को भी होम इंश्‍योरेंस में कवर नहीं किया जाता। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट