बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyभूषण स्‍टील पूर्व प्रमोटर सिंघल को SC से राहत, अंतरिम जमानत पर रोक से इंकार

भूषण स्‍टील पूर्व प्रमोटर सिंघल को SC से राहत, अंतरिम जमानत पर रोक से इंकार

SFIO ने दिल्ली हाई कोर्ट की ओर से सिंघल को दी गई जमानत को चुनौती दी थी

Bhushan Steel ex-promoter Neeraj Singal

नई दिल्ली. लगभग 2500 करोड़ रुपए के घोटाले के आरोपी भूषण स्टील के प्रमोटर नीरज सिंघल को दी गई अंतरिम जमानत पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर दिया।  सीरियस फ्रॉड इन्‍वेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) ने दिल्ली हाईकोर्ट के सिंघल को जमानत देने के फैसले को चुनौती दी थी।

 

सुप्रीम कोर्ट मेंं होगी मामले की सुनवाई 

जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की बेंच ने कहा कि इस मामले की सुनवाई अब सुप्रीम कोर्ट में होगी। सिंघल भूषण स्टील के पूर्व एमडी हैं और उन पर आरोप है कि उन्होंने अलग-अलग 80 अलग-अलग फर्म तैयार की थीं और उसके बाद बैंक कर्ज से 2500 करोड़ रुपए से ज्यादा का लोन लेकर उसमें हेराफेरी की।

 

जमानत का किया था विरोध 
इस महीने की शुरुआत में ही (SFIO) ने सिंघल को गिरफ्तार कर उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। सिंघल को अंतरिम जमानत मिलने के बाद SFIO ने 29 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था, एजेंसी ने हवाला दिया था कि उनकी रिहाई से जांच प्रक्रिया में बाधा आ सकती है।

 

एनपीए लिस्‍ट में शामिल है भूषण स्‍टील 
गौरतलब है कि बीते साल आरबीआई की ओर से जिन 12 एनपीए खातों की पहचान की गई थी, भूषण स्टील भी उनमें से एक थी और उसके खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू की जानी थी। मई में टाटा स्टील ने इस कंंपनी को खरीद लिया और उसने बकाए का निपटारा 35,200 करोड़ में किया।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट