Advertisement
Home » इकोनॉमी » पॉलिसीModi Govt : Industrial growth slips

मोदी सरकार के लिए बुरी खबर, 17 माह के निचले स्तर पर पहुंचा इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन 

इकोनॉमी को लगा झटका, 23 इंडस्ट्री ग्रुप में 13 का प्रदर्शन नेगेटिव रहा  

Modi Govt : Industrial growth slips

नई दिल्ली. आम चुनाव की तैयारियों में जुटी मोदी सरकार के लिए बुरी खबर आई है। इकोनॉमी को इंडस्ट्रियल प्रोडक्टशन ने तगड़ा झटका दिया है। नवंबर में आईआईपी ग्रोथ 17 महीने के निचले स्तर पर आ गई है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर खासकर उपभोक्ता एवं पूंजीगत वस्तुओं के उत्पादन में गिरावट की वजह से नवंबर में देश का आईआईपी ग्रोथ घटकर 0.5 फीसदी रहा, जिसके साथ ही यह 17 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया है। 

 

पिछले माह हुई थी ग्रोथ 
चालू वित्त वर्ष 2018-19 के नवंबर महीने में औद्योगिक उत्पादन महज 0.5 फीसदी की दर से बढ़ा, जबकि एक महीने पहले अक्टूबर में यह 8.1 फीसदी की दर से बढ़ा था। यह पिछले 17 महीनों में सबसे कम है। इससे पहले जून 2017 में आइआइपी की ग्रोथ 0.3 फीसदी की दर से घटी थी।

 

10 सेक्टर में पॉजिटिव ग्रोथ 
सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, नवंबर में मैनुफैक्चरिंग क्षेत्र के बढ़ने की रफ्तार 0.4 फीसदी कम हुई है जबकि अक्टूबर में यह 7.9 फीसदी की दर से बढ़ रहा था। इसके अलावा इलेक्ट्रिक प्रोडक्शन भी नवंबर में अक्टूबर के 10.8 फीसदी की तुलना में सिर्फ 5.1 फीसदी की रफ्तार से बढ़ा। इंडस्ट्रीज की बात करें तो पिछले साल नवंबर में मैनुफैक्चरिंग क्षेत्र के 23 इंडस्ट्री ग्रुप में सिर्फ 10 इंडस्ट्री ग्रुप में पॉजिटिव ग्रोथ रहा।

Advertisement

 

अर्थव्यवस्था की सेहत का मापक है IIP
औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) अर्थव्यवस्था के कई सेक्टर्स की सेहत का मापक है और इसके जरिए अर्थव्यवस्था की रफ्तार मापी जाती है. इसमें खनिज खनन, विद्युत उत्पादन और विनिर्माण क्षेत्र आदि को शामिल किया जाता है.
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss