Advertisement
Home » Economy » PolicySolar Street Light : what is Atal Joyti yojna

'अटल' ज्योति से रोशन होंगे ये राज्य, 761 करोड़ रुपए होंगे खर्च

दो साल में लगेंगे 3 लाख 4 हजार स्ट्रीट लाइट्स, एक की कीमत होगी 25 हजार रुपए

Solar Street Light : what is Atal Joyti yojna


नई दिल्ली. पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई अटल ज्योति योजना (AJAY) का दूसरा चरण शुरू किया गया है। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश, बिहार सहित कई राज्यों में 3.04 लाख सोलर स्ट्रीट लाइट्स लगाई जाएंगी। इस पर केंद्र सरकार द्वारा 75 फीसदी केंद्रीय वित्तीय सहायता (सीएफए) दी जाएगी, जबकि 25 फीसदी राशि सांसद निधि कोष (MPlad) दिया जाएगा। दूसरे चरण में 761 करोड़ रुपए खर्च होंगे। 

 

किन राज्यों में लगेंगी स्ट्रीट लाइट्स 
अटल ज्योति योजना के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा और असम में स्ट्रीट लाइट्स लगाई जाएंगी। इनके अलावा जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड, सिक्किम, अंडमान निकोबार और लक्षद्वीप शामिल हैं। 

 

क्या है एक स्ट्रीट लाइट की कीमत 
केंद्र सरकार की इस महत्वपूर्ण स्कीम के तहत जो सोलर स्ट्रीट लाइट लगाई जा रही है, एक स्ट्रीट लाइट की कीमत 25 हजार रुपए बताई गई है। इसमें 12 वाट का एलईडी बल्ब लगा है। साथ ही, एक सोलर पैनल भी लगा हुआ है। 

 

दो साल में पूरा होगा दूसरा चरण 
अटल ज्योति योजना को दो चरण में बांटा गया है। दूसरा चरण 2018-19 व 2019-20 में पूरा होगा। 2018-19 में 2 लाख सोलर स्ट्रीट लाइटें लगेंगी, जबकि 2019-20 में 1 लाख 4 हजार 500 स्ट्रीट लाइटें लगेंगी। 


कितना पैसा कौन खर्च करेगा 
मिनिस्ट्री ऑफ न्यू एंड रिन्यूएबल एनर्जी के डॉक्यूमेंट के मुताबिक, अजय के दूसरे चरण में कुल 761 करोड़ रुपए खर्च होगा, जिसमें से 571 करोड़ रुपए केंद्र सरकार खर्च करेगी, जबकि 190 करोड़ रुपए एमपी लेड फंड से खर्च होगा। जबकि 12 करोड़ रुपए सर्विस चार्ज और मॉनीटरिंग आदि पर खर्च होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement