Home » Economy » PolicyPM Modi Independence day speech, Independence day

स्वतंत्रता दिवस: PM मोदी की घोषणा से हेल्थ, इंश्योरेंस, इंटरनेट, हाउसिंग एवं बिजली क्षेत्र में निकलेंगे लाखों रोजगार

सबका साथ सबका वि‍कास से मि‍लेंगी लाखों नौकरि‍यां

PM Modi Independence day speech, Independence day

नई दिल्ली। 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले के प्राचीर से अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर सबका साथ सबका विकास का नारा दोहराया। लेकिन इस बार उन्होंने सबका विकास मॉडल को साफ कर दिया। उनके इस मॉडल को देश में लागू करने से आने वाले वर्षों में लाखों की संख्या में रोजगार निकलेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि सबका विकास मतलब सभी को घर, बिजली, स्वास्थ्य सेवा, बीमा सेवा, साफ पानी, टॉयलेट, रोजगार के लिए प्रशिक्षण एवं इंटरनेट कनेक्टिविटी हो। उन्होंने साफ कर दिया कि इस विकास मॉडल को आगे ले जाने के लिए वे प्रतिबद्ध है।

 

कैसे निकलेंगे इन क्षेत्रों में रोजगार

 

सबके लिए घर की बात करे तो सिर्फ ग्रामीण इलाके में वर्ष 2022 तक 2.95 करोड़ पक्के घर बनाने होंगे। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2017-18 के अंत तक लगभग 50 लाख मकान बन पाए थे। यानी कि अगले चार साल में लगभग 2.45 करोड़ घर बनाए जाएंगे। रियल एस्टेट के विशेषज्ञ प्रवीण जैन ने बताया कि इतनी बड़ी संख्या में घर निर्माण से निश्चित रूप से ग्रामीण क्षेत्र में लाखों की संख्या में रोजगार पैदा होंगे।

 

बिजली

 

अभी देश के लगभग 3 करोड़ घर ऐसे हैं जहां बिजली के कनेक्शन तो है, लेकिन वहां बल्ब नहीं जलते हैं। बिजली मंत्रालय के लक्ष्य के मुताबिक मार्च 2019 तक इन सभी घरों में बिजली से रोशनी करने का लक्ष्य रखा गया है। इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद बनाने वाली कंपनियों के मुताबिक देश के सभी घरों में बिजली कनेक्शन चालू होने के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों की मांग हर हाल में बढ़ेगी जिससे उत्पादों के निर्माण बढ़ेंगे जो रोजगार को बढ़ावा देगा।

 

हेल्थ

 

प्रधानमंत्री ने लाल किले के प्राचीर से कहा कि 25 सितंबर से देश के 10 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपये के हेल्थ इंश्योरेंस की सेवा दी जाएगी। लेकिन इसे अंजाम देने के लिए छोटे शहरों में भी बड़े अस्पतालों की जरूरत होगी। अस्पताल का संचालन करने वाली बड़ी कंपनियां इस अवसर का लाभ लेने के लिए छोटे शहरों में अस्पताल बनाने से लेकर अन्य स्वास्थ्य सेवाओं पर निवेश करेंगी, जिससे रोजगार निकलेंगे।

 

इंटरनेट कनेक्टिविटी

 

देश में लगभग 50 करोड़ लोग इंटरनेट के सक्रिय उपभोक्ता है। देश की आबादी 1.32 अरब पहुंच चुकी है। ऐसे में इंटरनेट के क्षेत्र में देश में सबसे अधिक रोजगार निकलने की संभावना जताई जा रही है। इंटरनेट के इस्तेमाल से मोबाइल फोन धारकों की संख्या बढ़ती जाएगी। इससे मोबाइल बनाने वाले कंपनियों से लेकर मोबाइल रिपेयर करने वाली दुकानों तक में रोजगार निकलेंगे। ब्राडबैंड के प्रसार से ग्रामीण इलाके में ई-कॉमर्स का कारोबार बढेगा। अभी देश खुदरा कारोबार में ई-कॉमर्स की हिस्सेदारी 2 फीसदी के आसपास है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट