Home » Economy » Policy200 years old mehandi shop in delhi

सात समंदर पार भी खिलते हैं 200 साल पुरानी इस दुकान की मेहंदी के रंग

मुगलकाल से चल रही है हर्बल मेहंदी की यह दुकान

1 of

नई दिल्ली। 200 साल से कोई परिवार मेहंदी का ही कारोबार कर रहा है, थोड़ा ताज्जुब होता है। लेकिन पुरानी दिल्ली के बाजार में ऐसी ही एक दुकान है जहां पिछले 200 सालों से हर्बल मेहंदी की दुकान चल रही है। यहां की मेहंदी सात समंदर पार ब्रिटेन एवं अमेरिका भी भेजी जाती है। मेहंदी को बाजार में बेचने से पहले लैब में उसकी जांच भी होती है। मुगलकाल से चली आ रही मेहंदी की यह दुकान ‘हकीम द हर्बल शाॅप’ के नाम से दुनियाभर में मशहूर है। वर्तमान में इस कारोबार को शोभित अरोड़ा चला रहे हैं। इस कारोबार को चलाने वाले शोभित पांचवी पीढ़ी के हैं जो इस व्यवसाय को आगे बढ़ा रहे हैं। शोभित ने Moneybhaskar.com से बातचीत में बताया कि मुगल काल में दिल्ली-6 में मेहंदी की कई दुकानें हुआ करती थीं, बाद में सब बंद होती चली गई। अधिकतर कारोबारियों ने समय के अनुसार अपना कारोबार बदल लिया। इन दिनों चांदनी चौक ही नहीं भारत की इकलौती यह दुकान है जहां लैब टेस्ट करने के बाद मेहंदी बेची जाती है। उन्होंने बताया कि  उनका सालाना कारोबार 50 लाख रुपए का है।

 

आगे पढ़ें…

राजस्थान की पत्तियों से तैयार होती है मेहंदी

शोभित बताते हैं, ‘ यहां मेहंदी की क्वालिटी ए1 प्लस की होती है। हम राजस्थान से मेहंदी की पत्तियां मंगवाते हैं। हम इसे हर्बल मिला कर तैयार करते हैं। इस हर्बल की क्वालिटी आज भी वैसी ही है, जैसे वर्षों पहले हुआ करती थी।’ उन्होंने बताया कि हम मेहंदी की जांच के बाद ही इसकी सप्लाई करते है। तभी  ग्राहकों का भरोसा आज भी हकीम हर्बल मेहंदी पर कायम है। उन्होंने बताया कि यहां से अमेरिका एवं ब्रिटेन भी मेहंदी भेजी जाती है।

 

आगे पढ़ें…

जानें क्या है कीमत

यहां बालों में और हाथों में लगाने वाली मेहंदी की अलग-अलग कीमत है। बालों में लगाने वाली मेहंदी की कीमत 300 से लेकर 5,000 रुपए किलोग्राम तक है। वहीं हाथ में लगने वाली मेहंदी की कीमत 600 रुपए प्रति किलो है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट