Home » Economy » Policyjob creation in india

अगले चार साल में पैदा होंगी 1.31 करोड़ नौकरियां, चेक करें अपना सेक्‍टर

सबसे अधिक 18 लाख नौकरियां एजुकेशनल सर्विसेज सेक्‍टर में पैदा होंगी।

1 of

नई दिल्‍ली।  मोदी सरकार अपने चार वर्ष से अधिक के कार्यकाल में पर्याप्‍त नौकरियां न पैदा कर पाने को लेकर भले ही राजनीतिक दलों के निशाने पर हो लेकिन आने वाले समय में बड़े पैमाने पर नई नौकरियां पैदा होने जा रही हैं। अगले चार साल में यानी 2018 से 2022 की अवधि में देश के विभिन्‍न सेक्‍टरों में 1.31 करोड़ नौकरियां पैदा होंगी। सबसे अधिक 18 लाख नौकरियां एजुकेशनल सर्विसेज सेक्‍टर में पैदा होंगी। 


एजुकेशनल सर्विसेज सेक्‍टर 

 

टीमलीज जॉब्‍स एंड सैलरीज प्रीमर के मुताबिक अगले चार साल यानी 2018-2022 के बीच में एजुकेशनल सर्विसेज सेक्‍टर बड़े पैमाने पर नौकरियां पैदा करेगा। अगले चार साल में इस सेक्‍टर में सबसे अधिक 18 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

ऑटो एंड एलाइड इंडस्‍ट्रीज 

 

अगले चार में नौकरियां पैदा करने के लिए लिहाज से दूसरा सबसे बड़ा सेक्‍टर ऑटो एंड एलाइड इंडस्‍ट्रीज होगा। इस सेक्‍टर में 2022 तक 15 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

रिटेल 

 

पिछले एक दशक के दौरान रिटेल सेक्‍टर में बड़े पैमाने पर नौकरियां पैदा हुई हैं। आने वाले सालों में भी रिटेल सेक्‍टर में कारोबारी गति‍विधियों का विस्‍तार होगा। अगले चार साल में रिटेल सेक्‍टर में 12 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

टेलीकॉम 

 

पिछले कुछ सालों में टेलीकॉम सेक्‍टर में कंसालिडेशन का दौर चल रहा है। लेकिन आने वाले सालो में टेलीकॉम सेक्‍टर पर्याप्‍त नौकरियां पैदा करेगा। अगले चार साल में टेलीकॉम सैक्‍टर में 10 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

आगे पढें-

बैंकिंग फाइनेंशियल सर्विसेज एंड इन्‍श्‍योरेंस 

 

पिछले एक दशक के दौरान बैकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज एंड इन्‍श्‍योरेंस (बीएफएसआई) सेक्‍टर का बडे पैमाने पर विस्‍तार हुआ है। बैंक और इन्‍श्‍योरेंस कंपनियां ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों तक अपनी सेवाएं और उत्‍पाद पहुंचाने पर फोकस कर रहे हैं। ऐसे में अगले 4 साल में बीएफएसआई सेक्‍टर में 9 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

हेल्‍थकेयर एंड फार्मा 

 

2022 तक हेल्‍थकेयर एंड फार्मा सेक्‍टर में 8 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

ई कॉमर्स और स्‍टार्ट अप 

 

पिछले कुछ सालों के दौरान ई कॉमर्स सेक्‍टर में बड़े पैमाने पर नौकरियां पैदा हुई हैं। अगले चार साल में भी ई कॉमर्स और स्‍टार्ट अप सेक्‍टर में 8 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

एफएमसीजी 

 

एफएमसीजी सेक्‍टर के बेहतर प्रदर्शन से यह पता चलता है कि अर्थव्‍यवस्‍था मजबूती की राह पर है। ऐसे में अगले चार साल में एफएमसीजी सेक्‍टर 7.5 लाख नौकरियां पैदा करेगा। 

 

एफएमसीडी 

 

फास्‍ट मूविंग कंज्‍यूमर गुड्स यानी एफएमसीडी सेक्‍टर में अगले चार साल में 6 लाख नौकरियां पैदा होंगी। एफएमसीडी सेक्‍टर में टीवी, फ्रिज और एसी जैसे प्रोडक्‍ट आते हैं। 

 

मीडिया एंड एंटरटेनमेंट 

 

अगले चार साल में मीडिया एंड एंटरटेनमेंट सेक्‍टर भी बड़े पैमाने पर रोजगार के मौके उपलब्‍ध कराएगा। 2022 तक इस सेक्‍टर में 7 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

एग्री एंड एग्री केमिकल्‍स 

 

नौकरियों के लिहाज से एग्री एंड एग्री केमिकल्‍स सेक्‍टर में भी संभावनाएं हैं और अगले चार साल में इस सेक्‍टर में 6 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 
 

आगे पढें- 

इंडस्ट्रियल मैन्‍यूफैक्‍चरिंग एंड एलाइड 


2018 से 2022 के बीच इंडस्ट्रियल मैन्‍यूफैक्‍चरिंग एंड एलाइड सेक्‍टर में 6 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 


हॉस्पिटैलिटी  सेक्‍टर 

 

2018 से 2022 के बीच हॉस्पिटैलिटी सेक्‍टर में 5.5 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

बीपीओ और आईटी से जुड़ी नौकरियां 

 

बीपीओ और आईटी सेक्‍टर में अगले चार साल में 4 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

पावर एंड एनर्जी सेक्‍टर 

 

पावर एंड एनर्जी सेक्‍टर में 2022 तक 4 लाख नौकरियां पैदा 

आईटी एंड नॉलेज सर्विसेज 

आईटी एंड नॉलेज सर्विसेज सेक्‍टर में अगले चार साल में 3 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 


कंस्‍ट्रक्‍शन एंड रियल एस्‍टेट सेक्‍टर 

 

कंस्‍ट्रक्‍शन एंड रियल एस्‍टेट सेक्‍टर में अगले चार साल में 2.5 लाख नौकरियां पैदा होंगी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss