Home » Economy » Policyभारत को इंक्‍यूसिव डेवलपमेंट इंडेक्‍स में मिला 62वां स्‍थान - India ranked at the 62nd place among emerging economies on an Inc

इन्‍क्‍लूसिव डेवलपमेंट इंडेक्‍स में भारत को मिला 62वां स्‍थान, चीन और पाक से भी पीछे

WEF रू होने से पहले जारी इन्‍क्‍लूसिव डेवलपमेंट इंडेक्‍स में भारत को 62वां स्‍थान मिला है।

1 of

दावोस. वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) शुरू होने से पहले जारी इन्‍क्‍लूसिव डेवलपमेंट इंडेक्‍स में भारत को 62वां स्‍थान मिला है।यह लिस्‍ट इमर्जिंग देशों के बीच तैयार की गई है। इसमें चीन और पाकिस्‍तान को भारत से अच्‍छी रेटिंग मिली है। चीन को 26वां और पाकिस्‍तान को 47वां स्‍थान मिला है। 

 

हर साल जारी होता है इंडेक्‍स 

वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम हर साल यह इंडेक्‍स जारी करता है। इसमें नार्वे सबसे इन्‍क्‍लूसिव एडवांस इकोनॉमी बना हुआ है, जबकि लिथुआनिया टॉप पर कायम है। दावोस में आयोजित हो रहे डब्ल्यूईएफ में दुनिया भर के लीडर शामिल हो रहे है। इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भी शामिल हैं। 

 

तीन मानकों पर तैयार हुआ है इंडेक्‍स

इस इंडेक्‍स को तैयार करने में तीन मानकों को आधार बनाया गया है। इसमें लिविंग स्‍टैंडर्ड, पर्यावरण पर्यावरण को लेकर स्थिरता और भावी को पीढ़ी को कर्ज से बचाने के प्रयासों को शामिल किया गया है। डब्ल्यूईएफ ने दुनियाभर के नेताओं से आग्रह किया है कि वह जल्‍द से जल्‍द इंक्‍यूसिव ग्रोथ के नए मॉडल को अपनाएं। 

 

पिछले साल से भी पीछे गया भारत 

79 विकासशील देशों के बीच बने इंडेक्‍स में भारत को पिछले साल 60वां स्‍थान मिला था। जबकि चीन को 15वांस और पाकिस्‍तान को 52वां। 2018 में इस इंडेक्‍स में 103 देशों को शामिल किया गया है। इस इंडेक्‍स को पांच सब कैटेगरी में बांटा गया है। मुख्‍य इंडेक्‍स में 62वां स्‍थान पाने वाले भारत को सब कैटेगरी एडवांसिंग ट्रेंड कैटेगरी में 10 इमर्जिंग इकोनामिक में शामिल किया गया है। 

 

ब्रिक्‍स देशों की स्थिति 

इस इंडेक्‍स में ब्रिक्‍स देशों को शामिल किया गया है। रूस को इसमें 19वां, चीन को 26वां, ब्राजील को 37वां, भारत को 62वां और साउथ अफ्रीका को 69वां स्‍थान मिला है। यही नहीं भारत को प्रदर्शन अपने अन्‍य पड़ोसी देशों से भी खराब रहा है। इस इंडेक्‍स में बंग्‍लादेश को 34वां, श्रीलंका को 40वां  और नेपाल को 22वां स्‍थान मिला है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट