Home » Economy » PolicySugar industry bailout to clear only 40 per cent of cane arrears राहत पैकेज से गन्‍ना किसानों का 40 फीसदी भुगतान ही मिल पाएगा, क्रिसिल ने जारी की रिपोर्ट

गन्ना किसानों को नहीं मिलेगा राहत पैकेज का पूरा फायदा, होगा 40% ही भुगतानः क्रिसिल

केन्‍द्र सरकार की तरफ से जारी गन्‍ना किसानों के राहत पैकेज से 40 फीसदी बकाया ही दिया जा सकेगा।

Sugar industry bailout to clear only 40 per cent of cane arrears  राहत पैकेज से गन्‍ना किसानों का 40 फीसदी भुगतान ही मिल पाएगा, क्रिसिल ने जारी की रिपोर्ट
 
नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार की तरफ से जारी गन्‍ना किसानों के राहत पैकेज से 40 फीसदी बकाया ही दिया जा सकेगा। गन्‍ना किसानों का मई तक मिलों पर करीब 22 हजार करोड़ रुपए बकाया है। कैबिनेट ने बुधवार को गन्‍ना किसानों के लिए 7 हजार करोड़ रुपए का पैकेज मंजूर किया था।
 
क्रिसिल ने जारी की है रिपोर्ट
क्रिसिल ने एक रिपोर्ट जारी कर कहा है कि सरकार के बेलआउट पैकेज का इरादा सही है, लेकिन इसमें शुगर सेक्‍टर की दिक्‍कतों की तरफ ध्‍यान नहीं दिया गया है। रिपोर्ट के अनुसार शुगर सेक्‍टर में गन्‍ने से लेकर एंड प्रॉडक्‍ट पर ध्‍यान देने की जरूरत है।
 
 
बफर स्‍टॉक से बढ़ेगा कंपनियों के पास कैश
शुगर का बफर स्‍टॉक बनाने और चीनी का एक्‍स फैक्‍ट्री दाम तय करने से इंडस्‍ट्री के पास तुरंत 3,500-4,000 करोड़ रुपए पहुंच जाएगा। पूरे साल में यह अमाउंट 9100 करोड़ तक हो सकता है। यह पैसा गन्‍ना किसानों के कुल बकाया का करीब 40 फीसदी ही होता है।
 
 
29 रुपए तय हुए मिल गेट पर चीनी के दाम
सरकार ने मिल गेट पर चीनी के दाम 29 रुपए प्रति किलो तय किए हैं, जिनको बाद में बढ़ाया जा सकता है। इसकी समीक्षा फेयर एंड पारिश्रमिक प्राइज (FRP) को ध्‍यान में रखते हुए की जाएगी। उम्‍मीद है कि 30 लाख टन का बफर स्‍टाॅक बनाने में सरकार 1175 करोड़ रुपए का खर्च करेगी। इससे चीनी मिलों को राहत मिलेगी।
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट