विज्ञापन
Home » Economy » PolicyShaktikanta Das assumes charge as RBI Governor

शक्तिकांत दास ने संभाली RBI की कमान, बने 25वें गवर्नर

पूर्व इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने बुधवार को रिजर्व बैंक (RBI) गवर्नर का पद संभाल लिया है।

Shaktikanta Das assumes charge as RBI Governor

पूर्व इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने बुधवार को रिजर्व बैंक (RBI) गवर्नर का पद संभाल लिया है। उन्होंने उर्जित पटेल की जगह ली है, जिन्होंने गवर्नैंस और केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता से संबंधित मुद्दों पर सरकार के साथ टकराव के बीच अचानक इस्तीफा दे दिया था। इस प्रकार शक्तिकांत दास आरबीआई के 25वें गवर्नर बन गए हैं।

 

नई दिल्ली. पूर्व इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने बुधवार को रिजर्व बैंक (RBI) गवर्नर का पद संभाल लिया है। उन्होंने उर्जित पटेल की जगह ली है, जिन्होंने गवर्नैंस और केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता से संबंधित मुद्दों पर सरकार के साथ टकराव के बीच अचानक इस्तीफा दे दिया था। इस प्रकार शक्तिकांत दास आरबीआई के 25वें गवर्नर बन गए हैं।

 

दास ने किया ट्वीट

दास ने एक ट्वीट में कहा, ‘RBI गवर्नर के तौर पर चार्ज संभाल लिया है। हर किसी को शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद।’ इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दास को एक ऐसे व्यक्ति के तौर पर संबोधित किया, जो आरबीआई के शीर्ष पद के लिए ‘पूरी तरह योग्य’ हैं।

जेटली ने कहा, ‘दास खासे सीनियर और अनुभवी सिविल सर्वैंट हैं। उनका पूरा करियर देश के फाइनेंस और इकोनॉमिक मैनेजमेंट में बीता है। वह तमिलनाडु सरकार में रहे हैं और उन्होंने केंद्र में वित्त मंत्रालय में भी जिम्मेदारियां संभाली हैं।’

 

उर्जित पटेल ने दिया था इस्तीफा

उर्जित पटेल (Urjit Patel) ने सोमवार को ही रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर पद से इस्तीफा दे दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार में यह तीसरा बड़ा इस्तीफा था। इससे पहले नीति आयोग के वाइस चेयरमैन अरविंद पनगड़िया और मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रम्नियन ने अपने-अपने पद से इस्तीफा दिया था। पिछले कुछ महीनों से पटेल के इस्तीफे के कयास लगाए जा रहे थे।

 

सरकार और आरबीआई में बढ़ा था टकराव

वित्त मंत्रालय और आरबीआई के बीच आरबीआई के रिजर्व फंड को लेकर टकराव की स्थिति पैदा हो गई थी। सरकार चाहती थी कि आरबीआई अपना रिजर्व फंड सरकार को रिलीज कर दे जबकि आरबीआई इसके पक्ष में नहीं था। पटेल को वित्त मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी भी कई बार तलब  कर चुकी थी। आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन के जाने के बाद मोदी सरकार ने पटेल का चयन किया था। लेकिन पिछले कुछ महीनों से पटेल के तेवर सरकार के साथ मेल नहीं खा रहे थे। पटेल का तीन साल का कार्यकाल सितंबर, 2019 में समाप्त हो रहा था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन