Home » Economy » PolicyRetail inflation cools to year-low of 3.31 pc in Oct

खुदरा महंगाई 3.31% के साथ एक साल के लो पर, इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन ने दिया झटका

माइनिंग सेक्टर में सुस्ती के चलते चार महीने के निचले स्तर पर आया IIP

Retail inflation cools to year-low of 3.31 pc in Oct

 

नई दिल्ली. खुदरा महंगाई (CPI) ने सरकार को बड़ी राहत दी है। रसोई के सामान, फल और प्रोटीन रिच आइटम्स सस्ते होने से अक्टूबर में खुदरा महंगाई घटकर 3.31 फीसदी रह गई, जो एक साल का निचला स्तर है। सोमवार को जारी महंगाई के आधिकारिक आंकड़ों से यह बात सामने आई। वहीं सितंबर, 2018 में यह आंकड़ा 3.70 फीसदी और अक्टूबर, 2017 में 3.58 फीसदी रही थी। इससे पहले महंगाई का निचला स्तर सितंबर, 2017 में 3.28 फीसदी रहा था। वहीं इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन यानी IIP ने तगड़ा झटका दिया है।

 

 

4 महीने के लो पर पहुंचा IIP

उधर, माइनिंग सेक्टर के कमजोर प्रदर्शन और कैपिटल गुड्स सेक्टर में डिमांड में सुस्ती के चलते सितंबर, 2018 में आईआईपी 4.5 फीसदी रह गया, जो बीते चार महीने का निचला स्तर था। वहीं बीते साल सितंबर में यह आंकड़ा 4.1 फीसदी रहा था। सीएसओ द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, अगस्त, 2017 के आईआईपी के 4.3 फीसदी के प्रोविजनल आंकड़े को संशोधित करके 4.6 फीसदी कर दिया गया है।

 
 

सब्जियां हुईं सस्ती

सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर में फूड बास्केट की महंगाई में 0.86 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई, जबकि सितंबर में यह आंकड़ा 0.51 फीसदी रही थी। वहीं अक्टूबर में सब्जियों की कीमतों में 8.06 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जबकि सितंबर में 4.15 फीसदी की कमी देखने को मिली थी।

 

फ्रूट बास्केट ने भी दी राहत

वहीं फ्रूट बास्केट में 0.35 फीसदी की कमी देखने को मिली, जबकि एक महीने पहले यह आंकड़ा 1.12 फीसदी दर्ज किया गया था। अनाज, अंडे, दूध जैसे प्रोटीन रिच आइटम्स और उनसे संबंधित उत्पादों की खुदरा महंगाई में भी नरमी दर्ज की गई।

 

फ्यूल हुआ महंगा

हालांकि ‘फ्यूल एंड लाइट’ कैटेगरी की महंगाई बढ़कर 8.55 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई, जबकि पिछले महीने यह 8.47 फीसदी रही थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट