बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyअगस्त में घटकर 3.69% रह गई खुदरा महंगाई, सब्जियों-फलों की कीमतें घटने से 10 महीने के निचले स्तर पर

अगस्त में घटकर 3.69% रह गई खुदरा महंगाई, सब्जियों-फलों की कीमतें घटने से 10 महीने के निचले स्तर पर

सब्जियों और फलों की कीमतों में कमी से अगस्त में खुदरा महंगाई दर 3.69 फीसदी दर्ज की गई, जो 10 महीने का निचला स्तर है।

Retail inflation cools to 10-month low of 3.69 pc in Aug

  

नई दिल्ली. सब्जियों और फलों की कीमतों में कमी से अगस्त में खुदरा महंगाई दर 3.69 फीसदी दर्ज की गई, जो 10 महीने का निचला स्तर है। जुलाई में खुदरा महंगाई दर 4.17 फीसदी और बीते साल अगस्त में 3.28 फीसदी रही थी। कॉमर्स मिनिस्ट्री ने बुधवार को महंगाई के आंकड़े जारी किए। महंगाई में कमी की खबर से मोदी सरकार को कुछ राहत मिल सकती है, क्योंकि बीती 16 अगस्त से देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। इसको लेकर सरकार अपोजिशन के निशाने पर है। इससे पहले अक्टूबर, 2017 में रिटेल महंगाई 3.58 फीसदी रही थी।

 

 

खाद्य महंगाई ने दी राहत

महंगाई का यह आंकड़ा आरबीआई के 4 फीसदी के लक्ष्य से नीचे रहा है। महंगाई के आंकड़ों से जाहिर होता है कि अगस्त, 2018 में खाद्य महंगाई घटकर 0.29 फीसदी पर आ गई है, जबकि इससे पिछले महीने में यह आंकड़ा 1.37 फीसदी रहा था। अगस्त में सब्जियों की कीमतों में 7 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। हालांकि फलों की कीमतों में 3.57 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई, जो जुलाई के 7 फीसदी से खासी कम है।

वहीं फ्यूल और लाइट सेगमेंट महंगाई में सुस्त बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। यह अगस्त में 8.47 फीसदी रही, जबकि जुलाई में यह आंकड़ा 8 फीसदी रहा था।

 

 

आरबीआई ने रखा है 4 फीसदी का टारगेट

भारत की फ्यूल बास्केट में डीजल की हिस्सेदारी 40 फीसदी है और इसकी खपत मुख्य रूप से ट्रांसपोर्ट सेक्टर में होती है। रिजर्व बैंक (आरबीआई) इंटरेस्ट रेट पर फैसला लेते समय महंगाई के आंकड़ों पर नजर रखता है। मॉनिटरी पॉलिसी की अगली बाईमंथली मीटिंग 5 अक्टूबर को होनी है। केंद्रीय बैंक ने रिटेल इनफ्लेशन को 4 फीसदी (2 फीसदी के मार्जिन के साथ) के स्तर पर सीमित रखने का लक्ष्य तय किया है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट