Home » Economy » Policypast 14 years CSO has revised upwards its GDP estimates

GDP को लेकर CSO के अनुमान अक्‍सर सही नहीं, RBI की रिसर्च में खुलासा

RBI के रिसर्च पेपर में जानकारी सामने आई है कि सीएसओ GDP को अपने पूर्वानुमान अक्‍सर अंडरइस्‍टीमेंट करता है।

past 14 years CSO has revised upwards its GDP estimates

 

मुम्‍बई. RBI के रिसर्च पेपर में जानकारी सामने आई है कि सेंट्रल स्‍टेटिक्‍स ऑफिस (सीएसओ) GDP को अपने पूर्वानुमान अक्‍सर अंडरइस्‍टीमेंट करता है। पिछले 14 साल में उसने 12 बार GDP को अंडरइस्‍टीमेंट किया, जबकि दो बार ही उसका अनुमान ओवर इस्‍टीमेट हुआ। भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने रिसर्च पेपर में कहा है कि वास्तविक अर्थव्यवस्था को समझने के लिए एनुअल इस्‍टीमेट के साथ अर्थव्‍यवस्‍था के संकेतों को भी समझने की जरूरत है।

 

मिंट स्‍ट्रीट मेमोस

रिजर्व बैंक हर माह मिंट स्‍ट्रीट मेमोस नाम से रिसर्च पेपर जारी करता है। इस बार उसने CSO के GDP के अनुमानों पर आंकड़े पेश किए हैं। इसके अनुसार सिर्फ 2009 और 2013 में ही CSO ने अपने अनुमानों को डॉउनवर्ड रिवाइज्‍ड किया है, जबकि पिछले 14 में से 12 सालों में अपवर्ड रिवाइज्‍ड किया गया है।

 

RBI फिर से लौटा GDP पर

आरबीआई की रिसर्च टीम का GVA अौर GDP दोनों तरह का डाटा इस्‍तेमाल करती है। GVA को FY 16 में जारी किया गया था, और आरबीआई ने इसका इस्‍तेमाल 1 अप्रैल 2018 से बंद कर दिया। आरबीआई का कहना है कि जीडीपी से अर्थव्‍यवस्‍था की बेहतर तस्‍वीर मिलती और यह दुनिया के मानकों के अनुसार ज्‍यादा फिट है।

 

 

काफी अंतर पाया गया

रिसर्च पेपर में बताया गया है कि 2005-06 में अर्थव्‍यवस्‍था के बढ़ने का अनुमान 8.1 फीसदी जताया गया था, ज‍बकि बाद में इस बढ़ाकर 9.5 फीसदी किया गया। इस प्रकार अनुमान और वास्‍वतिकता में 1.4 फीसदी का अंतर था। वर्ष 2009-10 में अनुमान 7.2 फीसदी का जताया गया था जबकि यह बाद में यह आंकड़ा सुधार कर 8.6 फीसदी करना पड़ा था। इसमें भी 1.4 फीसदी का अंतर था।

 

CSO है नोडल एजेंसी

CSO देशभर से अर्थव्‍यवस्‍था के आंकड़े एकत्र करने के लिए नोडल एजेंसी है। यह एजेंसी नेशनल इन्‍कम, खपत और खर्च, बचत सहित कैपिटल फार्मेशन का डाटा 1956 से एकत्र कर रही है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट