Home » Economy » Policyपीएम मोदी और नीरव की दावोस में नहीं हुई मुलाकात, फोटो की राजनीति न करे कांग्रेसः BJP-Ravi Shankar Prasad Attacks on Congress in PNB fraud case

पीएम मोदी और नीरव की दावोस में नहीं हुई मुलाकात, फोटो की राजनीति न करे कांग्रेसः BJP

पीएनबी में 11,356 करोड़ रु के फ्रॉड का मामला सामने आने के बाद कांग्रेस के हमलावर रुख बीजेपी तिलमिला गई है।

1 of

नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक में 11,356 करोड़ रुपए के फ्रॉड का मामला सामने आने के बाद कांग्रेस के हमलावर रुख भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) तिलमिला गई है। बीजेपी की तरफ से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि नीरव और पीएम मोदी के बीच दावोस में कोई मुलाकात नहीं हुई थी और नीरव सीआईआई के इवेंट में आए थे।

 

प्रसाद ने कांग्रेस के आरोपों पर हमलावर होते हुए कहा कि वह फोटो की राजनीति न करे। उन्होंने कहा, ''हमारे पास भी चौकसी साहब (मेहुल चौकसी) के कांग्रेस के कई नेताओं के साथ अंतरंग फोटो हैं।"

 

कांग्रेस ने पूछे थे ये सवाल

इसके पहले पीएनबी फ्रॉड पर कांग्रेस ने केंद्र से 4 सवाल पूछे। कहा- ये 30 हजार करोड़ का बैंक घोटाला है। बता दें कि इस मामले में कथित आरोपी नीरव मोदी देश के बाहर चले गए हैं।

कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "नीरव मोदी ने पहले पीएम को गले लगाया फिर उनके साथ दावोस गए और देश के 12 हजार करोड़ लूट लिए। नीरव, माल्या की तरह ही देश से बाहर भाग गए। जबकि सरकार दूसरे रास्ता देख रही थी।"

सुरजेवाला ने कहा, "एक्सपर्ट मानते हैं कि ये 30 हजार करोड़ रुपए का घोटाला है। ये आजादी के बाद सबसे बड़ा बैंक घोटाला है।"

 

BJP का जवाब- हमारी सरकार का कोई लोन NPA नहीं हुआ

कांग्रेस के आरोपों पर जवाब देने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद सामने आए। उन्होंने कहा कि पीएनबी मामले की पूरी जांच होगी। किसी को बख्शा नहीं जाएगा। नीरव मोदी के साथ दावोस में पीएम के फोटो पर प्रसाद ने कहा- नीरव अपने आप दावोस पहुंचे थे। वो सीआईई की ग्रुप फोटो इवेंट में आए थे। कांग्रेस फोटो की राजनीति ना करे। नहीं तो हमारे पास भी चौकसी साहब (मेहुल चौकसी) के कांग्रेस के कई नेताओं के साथ अंतरंग फोटो हैं।

 

और क्या कहा प्रसाद ने?

रविशंकर प्रसाद ने कहा, “इस मामले की पूरी जांच होगी और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। मैं साफ कर देना चाहता हूं बैंकिंग सिस्टम में ऐसे किसी भी शख्स को नहीं बख्शा जाएगा, जिन्होंने नीरव मोदी को हेल्प करने के लिए सामान्य बैंकिंग सिस्टम को नुकसान पहुंचाया। अभी कार्रवाई चल रही है और प्रभावी कार्रवाई हुई है।”

 

कांग्रेस के आरोप बेबुनियाद

उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने कुछ बेबुनियाद आरोप लगाए। छोटा मोदी कौन सा शब्द है? ये बार-बार कहा जा रहा है। इस पूरे देश में करोड़ों लोग होंगे, जिनका सरनेम मोदी है। क्या कहना चाहते हैं वो? भारत के पीएम को लेकर उनकी पीड़ा हम जानते हैं। त्रिपुरा में भी वे हारने वाले हैं, क्या वे राजनीतिक शालीनता की सारी हदें लांघ देंगे। बीजेपी इसके खिलाफ कदम उठाएगी।”

- “दावोस में नीरव मोदी अपने आप पहुंचे थे और सीआईई की ग्रुप फोटो की इवेंट में वे आए थे। पीएम से मुलाकात नहीं हुई। कांग्रेस को आगाह करता हूं कि वे फोटो की राजनीति बंद करे। वरना चौकसी साहब की अंतरंग तस्वीरें कांग्रेस नेताओं के साथ हैं हमारे पास।”

 

चौकसी के प्रोग्राम में गए थे राहुल गांधी

- “कांग्रेस के एक नेता शहजाद पूनावाला साहब ने एक ट्वीट किया कि सितंबर 2013 में दिल्ली के इम्पीरियल होटल में नीरव मोदी का ब्राइडल ज्वेलरी का कार्यक्रम था, वहां राहुल गांधी भी गए थे। इस पर क्या कहेंगे? हमारे प्रधानमंत्री जी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के वक्त एक बात कही थी कि एनपीए की निराशा कांग्रेस के वक्त की थी। रणदीप सुरजेवाला बार-बार माल्या साहब का नाम ले रहे थे। उसकी चर्चा मैं करना चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि टीवी और अखबार के माध्यम से देश में जाए।”

 

मनमोहन को माल्या ने शुक्रिया का लेटर लिखा था

- “विजय माल्या कांग्रेस सरकार के पीएम मनमोहन सिंह को धन्यवाद के पत्र लिख रहे हैं कि पीएम की सलाह पर मंत्री बैंकिंग अफसरों से बात कर रहे हैं। कौन सी बात कांग्रेस पार्टी कह रही है। मैं समझता हूं कि कांग्रेस जिस तरह के आरोप लगाती है तो उसे खुद के गिरेबान में झांक लेना चाहिए। मोदी सरकार के कार्यकाल में एक भी लोन ऐसा नहीं दिया गया जो एनपीए हुआ हो। हर्षद मेहता घोटाला, सत्यम घोटाला, कोयला और टूजी-आदर्श-कॉमनवेल्थ की चर्चा हम कई बार करते रहे हैं। बार-बार यही बात आई कि कांग्रेस ने सही तरह से जांच नहीं होने दी।”

 

कांग्रेस पर तंज

- प्रसाद ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, “पीएनबी मामले में तेजी से कार्रवाई होगी और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा, ये बात मैं साफ कर देना चाहता हूं। ये 2011 में शुरू हुआ था। लोगों ने सिस्टम को बाइपास किया है, बैंक के लोगों का नाम भी सामने आया है। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। गीतांजलि के मेहुल चौकसी के बारे में क्या ये सच नहीं है कि 2011 से 2013 के बीच इनकी आय दोगुनी हो गई थी। 2011 से ये चल रहा था और नतीजा सामने दिख रहा है। हमारे वक्त तुरंत कार्रवाई की गई। किसी को बख्शा नहीं जाएगा। कांग्रेस से एक ही बात कहूंगा कि जिनके घर ऐसे शीशे को हों, जो टुकड़े-टुकड़े हो चुके हैं, वो दूसरों पर पत्थर ना फेंकें। मोदी सरकार ईमानदारी से काम करती है और हमें इस पर गर्व है। ये किसी के दबाव में नहीं झुकेगी।”

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट