बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyमोदी राज में डीजल ने लगाई 20% की छलांग

मोदी राज में डीजल ने लगाई 20% की छलांग

मोदी सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल में डीजल की कीमत करीब 20 प्रतिशत बढ़ चुकी है।

1 of

नई दिल्ली। मोदी सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल में डीजल की कीमत करीब 20 प्रतिशत बढ़ चुकी है। वहीं पेट्रोल के दाम में भी आठ प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी हो चुकी है। मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सरकार 26     मई 2014 को सत्तारुढ़ हुई थी। सत्ता में आने के बाद पहले पेट्रोल पर से सरकारी नि‍यंत्रण हटा लि‍या था। कुछ समय बाद तेल कंपनियों को डीजल के दाम भी अंतर्राष्ट्रीय मूल्य के आधार पर तय करने की छूट दे दी गई।

 

11.47 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी 
पिछले साल 16 जून से दोनों ईंधन के दाम विश्व बाजार की कीमतों के अनुसार दैनिक आधार पर तय हो रहे हैं। तेल कंपनियां वर्तमान में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों के हि‍साब से रोजाना पेट्रोल और डीजल के दामों में संशोधन करती हैं। पिछले चार साल की कीमतों का आंकलन किया जाए तो डीजल  20.02 प्रतिशत की छलांग लगा चुका है। इसमें अब तक 11.47 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। एक जून 2014 को दिल्ली में एक लीटर डीजल की कीमत 57.28 रुपए थी जो आज 68.75 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच चुकी है।


कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान तेल कंपनियों ने 19 दिन ईंधन के दाम नहीं बढ़ाए मगर मतदान समाप्त होने के बाद कीमतों के बढ़ने का दौर एक बार फिर शुरू हुआ । बीते ग्यारह दिन के दौरान डीजल की कीमत 2.60 रुपए और पेट्रोल का दाम 2.84 रुपए प्रति लीटर बढ़ चुका है। 
देश के चार बड़े महानगरों में एक जून 2014 और शुक्रवार को दोनों ईंधन की कीमत (प्रति लीटर) रुपए में 


पेट्रोल 

तारीख    दिल्ली  कोलकाता मुंबई चेन्नई
1 जून 2014 71.51 79.36 80.11 74.71
25 मई 2018 77.83 80.47 85.65 80.80


  डीजल 

तारीख दिल्ली कोलकाता मुंबई चेन्नई
1 जून 2014 57.28 61.97 65.84 61.12
25 मई 2018  68.75 71.30 73.20 72.58


        

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट