बिज़नेस न्यूज़ » Economy » PolicyUS प्रतिबंधों पर WTO सदस्‍यों ने जताई चिंता, भारत का कॉमन विषय खोजने का आग्रह

US प्रतिबंधों पर WTO सदस्‍यों ने जताई चिंता, भारत का कॉमन विषय खोजने का आग्रह

WTO के कई सदस्‍याें ने अमेरिका की संरक्षणवादी नीतियों पर चिंता जताई है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. WTO के कई सदस्‍याें ने अमेरिका की संरक्षणवादी नीतियों पर चिंता जताई है। अमेरिका ने हाल ही में स्‍टील और एल्‍यूमीनियम पर इंपोर्ट ड्यूटी लगाई है। वहीं संगठन की बैठक में कामर्स मिनिस्‍टर सुरेश प्रभु ने सदस्‍य देशाें से आग्रह किया कि वह बहुपक्षीय व्‍यापार संगठन को फिर से पहले जैसा बनाने के लिए प्रयास करें।

 

बैठक में पाक सहित 53 देशों ने भाग लिया

भारत के आग्रह पर हो रही दिवसीय बैठक आज संपन्‍न हो गई। इसमें 53 अमेरिका, चीन और यूरोपीयन देशों सहित 53 देशों ने भागीदारी की। इस बैठक की खास बात रही कि इसमें पाकिस्‍तान के प्रतिनिधि ने भी भाग लिया। इस बैठक में दोहा विकास एजेंडा, फिशरीज पर सब्सिडी, इन्‍वेस्‍टमेंट सहित कई मुद्दों पर चर्चा हुई। इसके अलावा फूड सिक्‍योरिटी सहित विकासशील देशों के लिए अलग से नीतियों पर बातचीत हुई।

 

 

 WTO फेस कर रहा कई दिक्‍कतें

कामर्स मिनिस्‍टर सुरेश प्रभु ने सदस्‍य देशों से ब्‍यूनस आयर्स वार्ता में आए गतिरोध को दूर करने के लिए ऐसे कॉमन विषयों को खोजने का आग्रह किया जिन यह बहुपक्षीय संगठन आगे बढ़ सकें। यह बैठक भारत के आग्रह पर हो रही है। इसमें प्रभु ने कहा कि यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब संगठन ढेर सारी दिक्‍कतें फेस कर रहा है। इसमें ब्‍यूनस आयर्स में आया वार्ता में गतिरोध भी शामिल है। इसके अलावा कई सिस्‍टम से जुड़े मुद्दे भी शामिल हैं।

 

बहुपक्षीय व्‍यापार फायदेमंद

इस दौरान प्रभु ने कहा कि सभी सदस्‍य इस बात से सहमत होंगे कि बहुपक्षीय व्‍यापार से आर्थिक प्रगति संभव है। इसके अलावा इससे रोजगार को बढ़ावा देने में मदद मिली है। उन्‍होंने कहा अगर आप लोग WTO और इसके योगदान से सहमत होंगे तो उम्‍मीद है कि सभी लाेग मिलकर इसे मजबूत बनाने का प्रयास करेंगे। प्रभु ने कहा कि हालांकि कोई भी कदम न उठाना कोई च्‍वॉइन नहीं है।

 

भारत फ्री ट्रेड का हिमायती

उन्‍होंने कहा कि इस बहुपक्षीय व्‍यापार व्‍यवस्‍था को मजबूत बनाने के लिए राजनैतिक और अन्‍य तरह से तुरंत कदम उठाने की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि भारत फ्री ट्रेड का हिमायती है और इस बैठक के माध्‍यम से भारत चाहता है कि हर विषय पर खुलकर बात हो, जिससे चुनौतियों से निपटा जा सके।

 

WTO को पुनर्जीवित करने की जरूरत

उन्‍होंने कहा कि इस बैठक का उद्देश्‍य संगठन को पुनर्जीवित करने का है। इसके लिए हमे मिलकर काम करने की जरूरत है जिससे उद्देश्‍य को पाया जा सके। उन्‍होंने सदस्‍य देशों से आग्रह किया कि आइए हम मिलकर इन समस्‍याओं का हल खोजें।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट