Home » Economy » PolicyPM Modi says 4th Industrial Revolution to change nature of jobs

चौथी औद्योगिक क्रांति से पैदा होंगे नए मौके, बदलेगा जॉब्स का नेचरः पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टेक्नोलॉजिकल डेवलपमेंट के चलते जॉब लॉस की आशंकाओं को खारिज किया।

PM Modi says 4th Industrial Revolution to change nature of jobs

  

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टेक्नोलॉजिकल डेवलपमेंट के चलते जॉब लॉस की आशंकाओं को खारिज किया। उन्होंने कहा कि ‘चौथी औद्योगिक क्रांति’ से जॉब्स का नेचर पूरी तरह बदल जाएगा और ज्यादा अवसर पैदा होंगे। वह सेंटर फॉर फोर्थ इंडस्ट्रियल रिवॉल्युशन के लॉन्च के मौके पर बोल रहे थे।

 

 

नीतिगत बदलाव के लिए सरकार तैयार

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार चौथी औद्योगिक क्रांति के फायदे उठाने में मदद करने के वास्ते नीतिगत बदलाव करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, ‘हमारी विविधता, जनसंख्या, तेजी से बढ़ता मार्केट साइज और डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर में भारत को रिसर्च और इंप्लीमेंटेशन के लिए ग्लोबल हब बनाने की संभावनाएं हैं।’

 

 

चौथी क्रांति का देश को मिलेगा पूरा लाभ

उन्होंने कहा कि भले ही देश को पिछली औद्योगिक क्रांतियों का पूरा लाभ नहीं मिला, लेकिन चौथी क्रांति में भारत का योगदान शानदार रहेगा। उन्होंने कहा, ‘पहली और दूसरी क्रांति के दौरान भारत आजाद नहीं था। उस समय भारत आजादी हासिल करने से जुड़ी चुनौतियों का सामना कर रहा था।’

 

 

नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगा भारत

पीएम मोदी ने कहा कि आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ब्लॉकचेन और बिग डाटा में भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाने की क्षमताएं हैं।

 

 

50 करोड़ हाथों में है मोबाइल

उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि दूरसंचार सुविधाओं की पहुंच अब 93 फीसदी लोगों तक है और लगभग 50 करोड़ भारतीयों के हाथ में मोबाइल है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत दुनिया में सबसे ज्यादा मोबाइल डाटा यूज करने वाला देश है और यहां पर डाटा के रेट सबसे कम हैं। उन्होंने बीते चार साल के दौरान डाटा की खपत 30 गुनी तक बढ़ गई है।

 

 

ऑप्टिक फाइबर से जुड़ीं 1 लाख ग्राम पंचायत

उन्होंने कहा कि 120 करोड़ भारतीयों के पास आधार कार्ड है। 2.5 लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिक फाइबर से जोड़ने का काम जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

पीएम मोदी ने कहा कि वर्ष 2014 में 59 पंचायतों ऑप्टिक फाइबर से जुड़ी हुई थीं, जो संख्या अब बढ़कर 1 लाख तक पहुंच चुकी है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट