विज्ञापन
Home » Economy » PolicyRs 1.2 lakh cr investment committed in city gas rollout

सिटी गैस के विस्तार में 1.20 लाख करोड़ का होगा निवेश, PNGRB ने दी डिटेल

8 से 10 साल में व्यापक स्तर पर CNG स्टेशनों की स्थापना और घरों में कुकिंग गैस कनेक्शंस भारी निवेश का अनुमान है।

Rs 1.2 lakh cr investment committed in city gas rollout

अगले 8 से 10 साल के दौरान व्यापक स्तर पर सीएनजी (CNG) स्टेशनों की स्थापना और घरों में कुकिंग गैस कनेक्शंस (cooking gas connections) दिए जाने से देश में भारी निवेश होने की संभावना है।

   

नई दिल्ली. अगले 8 से 10 साल के दौरान व्यापक स्तर पर सीएनजी (CNG) स्टेशनों की स्थापना और घरों में कुकिंग गैस कनेक्शंस (cooking gas connections) दिए जाने से देश में भारी निवेश होने की संभावना है। ऑयल रेग्युलेटर पीएनजीआरबी (PNGRB) ने शुक्रवार को कहा कि इस काम में आईओसी (IOC), अडानी गैस (Adani Gas) और टॉरंट (Torrent) जैसी कंपनियों ने लगभग 1.2 लाख करोड़ रुपए के निवेश की प्रतिबद्धता जाहिर की है। 

 

136 जीए के लिए जारी हुए लाइसेंस

पीएनजीआरबी (PNGRB) ने बीते छह महीनों में दो चरणों में 136 जिओग्रैफिकल एरियाज (GAs) में सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क्स की स्थापना के लिए लाइसेंस जारी किए हैं। पीएनजीआरबी के चेयरमैन डी के सर्राफ ने कहा कि इसके तहत देश भर में सीएनजी स्टेशनों की संख्या बढ़ाकर 10,000 की जाएगी, जो फिलहाल 1,500 है। इसके अलावा 5 करोड़ घरों में पाइप्ड नैचुरल गैस कनेक्शन भी दिए जाएंगे, यह संख्या फिलहाल सिर्फ 5 लाख है।

 

दो चरणों में 1.20 लाख करोड़ के निवेश का अनुमान

उन्होंने कहा कि बीते साल अगस्त में हुए नौवें सिटी गैस बिड राउंड में आवंटित 86 जीए में 70,000 करोड़ रुपए के निवेश की प्रतिबद्धता जाहिर की गई थी, वहीं शुक्रवार को आवंटित 50 जीए में 50,000 करोड़ रुपए के निवेश का अनुमान है।

 

आईओसी, एचपीसीएल, अडानी गैस सहित कई कंपनियों को मिला कॉन्ट्रैक्ट

तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 10वें चरण के विजेताओं को लेटर ऑफ इंटेंट सौंपा, जिसमें इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC), हिंदुस्तान पेट्रोलियम (HPCL), टॉरंट गैस और अडानी गैस जैसी कंपनियां शामिल थीं।

 

70 फीसदी आबादी तक पहुंचेगी सीजीडी की सुविधा

उन्होंने कहा, ‘2014 तक सिर्फ 20 फीसदी आबादी तक सिटी गैस डिस्ट्रब्यूशन नेटवर्क की सुविधा पहुंची थी और अब 10वें चरण की बिडिंग के यह आंकड़ा 70 फीसदी हो जाएगा। 10वें चरण के बाद सिटी गैस नेटवर्क का विस्तार देश के 402 जिलों तक पहुंच जाएगा।’

बीते साल संपन्न हुई 9वें चरण की बिडिंग में 174 जिलों को मिलाकर 86 जीए बनाए गए थे। वहीं 10वें चरण में 124 जिलों को मिलाकर बनाए गए 50 जीए ऑफर किए गए थे। सर्राफ ने कहा, ‘5 फरवरी, 2019 तक 25 एंटिटीज से 225 बिड्स हासिल हुई थीं। पीएनजीआरबी ने रिकॉर्ड 21 दिनों के भीतर बिड्स को मंजूरी दे दी।’
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन