Home » Economy » Policywhat is big data analytics, income tax department on big data analytics

काली कमाई का भंडा फोड़ करता है यह खास सॉफ्टवेयर, ऐसे फंस जाते हैं टैक्स चोर

सरकार कर रही है बिग डाटा एनालिटिक्स का इस्तेमाल

what is big data analytics, income tax department on big data analytics

नई दिल्ली। मोदी सरकार काली कमाई का पता लगाने के लिए एक खास सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रही है। चाहे चाट पकौड़ी बनाने वाला व्यक्ति हो या बड़ा कारोबारी हर व्यक्ति पर इस सॉफ्टवेयर की नजर रहती है। अगर कोई व्यक्ति अपनी इनकम छिपा रहा है और उस पर नियम के अनुसार टैक्स नहीं दे रहा है, तो यह सॉफ्टवेयर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को उस व्यक्ति के बारे में अलर्ट करता है। इसके बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आगे की जांच करने के बाद छापा मारता है या इनकम टैक्स चोरी के मामले में नोटिस भेजता है। 

 

 टैक्स चोरी पकड़ने के लिए सरकार कर रही है बिग डाटा एनालिटिक्स का इस्तेमाल

 

सीए संगीत गुप्ता ने moneybhaskar.com को बताया कि मौजूदा समय में करोड़ो लोग इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करत हैं। सरकार के पास यह डाटा रहता है। सरकार बिग डाटा एनालिटिक्स के जरिए इन इनकम टैक्स रिटर्न का एनानिसिस करती है। उदाहरण के लिए दिल्ली में 200 कपड़े के रिटेलर्स है और वे रिटर्न फाइल कर रहे हैं। इसमें से कुछ लोग 2 फीसदी प्रॉफिट दिखा रहे हें। ओर कुछ लोग 1 फीसदी और कुछ लोग 2 फीसदी से ज्यादा। अब सरका डाटा एनालिटिक्स के जरिए यह पता लगा सकती है कि वे कौन से लोग है जो 1 फीसदी या इससे कम मुनाफा दिखा रहे हें। ऐसे में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ऐसे लोगों की पहचान कर उनके बारे में जांच कर सकता है कि उनका मुनाफा कम क्यों है और  कहीं अपना मुनाफा जानबूझ कर कम तो नहीं दिखा रहे हैं। 

 

डाटा की होती है स्कैनिंग 

 

इसके अलावा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बैंक डिपॉजिट, प्रॉपर्टी रिजस्ट्रेशन, पैन, सोशल मीडिया पोस्ट, विदेश यात्रा और क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट की स्कैनिंग भी करता है। अगर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को लगता है कि किसी व्यक्ति की इनकम उसकी टैक्स प्रोफाइल से मैच नहीं करती है तो वह उस व्यक्ति को नोटिस भेजता है।

 

क्या है बिग डाटा एनालिटिक्स 

बिग डाटा एनालिटिक्स एक खास तरह का सॉफ्टवेयर है जो सरकार के पास आए तमाम तरह के डाटा का एनालिसिस करता है। सरकार के पास बैंक डिपॉजिजट, प्रॉपर्टी की खरीदारी, विदेश यात्रा, क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन सहित तमाम तरह के डाटा आते हैं। बिग डाटा एनालिटिक्स इस डाटा क जरिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को फीडबैक देता है कि यह ट्रांजैक्शन संदिग्ध है या यह व्यक्ति टैक्स की चोरी कर रहा है। 

 

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट