बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyचिदबंरम ने मोदी पर साधा निशाना, कहा- पकौड़ा बेचना जॉब है तो भीख मांगना भी रोजगार

चिदबंरम ने मोदी पर साधा निशाना, कहा- पकौड़ा बेचना जॉब है तो भीख मांगना भी रोजगार

पी चिदबंरम ने मोदी पर हमला करते हुए कहा कि अगर पकौड़ा बेचना जॉब है तो भीख मांगना भी रोजगार का विकल्‍प हो सकता है।

1 of

नई दिल्‍ली. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व वित्‍तमंत्री पी चिदबंरम ने पीएम नरेन्‍द्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि अगर पकौड़ा बेचना जॉब है तो भीख मांगना भी रोजगार का विकल्‍प हो सकता है। चिदबंरम ने लगातार कई ट्वीट कर कहा कि सरकार रोजगार निर्माण को लेकर भ्रम हैं।

 

पकोड़े वाले बयान पर दी प्रतिक्रिया

उन्‍होंने कहा कि अगर मोदी के लॉजिक के हिसाब से देखें तो पकौड़ा बेचना जॉब है तो इस लिहाज से भीख मांगना भी एक तरह से जॉब ही है। उन्‍होंने कहा इस प्रकार से गरीब और दिव्‍यांग जो भीख मांग कर गुजारा कर रहे हैं, उनको ‘कामगार’ व्‍यक्ति माना जा सकता है।

 

टीवी इंटरव्‍यू में मोदी ने कहा था ऐसा

19 जनवरी को एक टीवी इंटरव्‍यू में जॉब्‍स क्रिऐशन पर किए गए एक सवाल के जबाव में उन्‍होंने कहा था कि अगर एक पकौड़े वाला दिनभर में 200 कमा लेता है तो क्‍या वह कामगार है या नहीं।

 

जॉब और सेल्‍फ इम्‍प्‍लायमेंट में अंतर

चिदबंरम ने कहा कि जॉब और सेल्‍फ इम्‍प्‍लायमेंट में काफी अंतर होता है। उन्‍होंने कहा कि जॉब में एक सिक्‍योरिटी होती है, जबकि सेल्‍फ इम्‍प्‍लायमेंट में हरदम सिक्‍योरिटी का रिस्‍क होता है। उन्‍होंने सरकार की मनरेगा को लेकर भी खिंचाई की। उन्‍होंने कहा कि सरकार मनरेगा के जॉब होल्‍डर्स वर्कर्स को भी जॉब में मान रही है, जबकि यह गलत है। उन्‍होंने कहा कि मनरेगा वर्कर्स केवल 100 दिन काम पाते हैं बाकी दिन वह जॉब लैस ही होते हैं। उन्‍होंने कहा कि जॉब की स्थिति में तभी सुधार आता है जब निजी निवेश बढ़े, निजी खतप बढ़ और निर्यात में बढ़त आए, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हो रहा है।


 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट