विज्ञापन
Home » Economy » PolicyIndustrial growth slows to 1.7 pc in January

इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन ने दिया झटका, घटकर 1.7% रह गई ग्रोथ, बढ़ी महंगाई 

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की सुस्ती के चलते इंडस्ट्रियल आउटपुट (Industrial output) को तगड़ा झटका लगा, जिसकी ग्रोथ जनवरी 201

Industrial growth slows to 1.7 pc in January

नई दिल्ली. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की सुस्ती के चलते इंडस्ट्रियल आउटपुट (Industrial output) को तगड़ा झटका लगा, जिसकी ग्रोथ जनवरी 2019 में घटकर 1.7 फीसदी रह गई। एक साल पहले समान महीने के दौरान आईआईपी (IIP) ग्रोथ 7.5 फीसदी रही थी। वहीं खुदरा महंगाई यानी CPI (Retail inflation) में बढ़ोतरी दर्ज की गई, जो फरवरी, 2019 में बढ़कर 2.57 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई।

 

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर ने दिया झटका

सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस यानी CSO (Central Statistics Office) द्वारा मंगलवार को जारी आईआईपी डाटा के मुताबिक, अप्रैल-जनवरी, 2018-19 में आईआईपी ग्रोथ 4.4 फीसदी रही थी, जबकि एक साल पहले समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 4.1 फीसदी रहा था।
सेक्टर्स की बात करें तो माइनिंग, मैन्युफैक्चरिंग और इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर्स की ग्रोथ क्रमशः 3.9 फीसदी, 1.3 फीसदी और 0.8 फीसदी रही।

 

खुदरा महंगाई बढ़ी

उधर खुदरा महंगाई (CPI) फरवरी, 2019 में बढ़कर 2.57 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई जो बीते चार महीना का उच्चतम स्तर है, जबकि एक महीने पहले यानी जनवरी में यह आंकड़ा 1.97 फीसदी रहा था।
वहीं एक साल पहले समान महीने यानी फरवरी, 2018 की बात करें तो खुदरा महंगाई 4.44 फीसदी रही थी। हालांकि फूड इनफ्लेशन सीपीआई में 0.66 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जो जनवरी के (-) 2.24 फीसदी से ज्यादा है। रिजर्व बैंक मॉनिट्री पॉलिसी तय करते समय खुदरा महंगाई पर गौर करता है।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन